तपती धूप में खड़े रहकर उपज बेचने को मजबूर अन्नदाता

तपती धूप में खड़े रहकर उपज बेचने को मजबूर अन्नदाता

किशोर राठौर 

शाहाबाद (हरदोई)

केन्द्र एवं प्रदेश सरकार  की ओर से किसानों को हर सम्भव सहायता उपलब्ध कराने की नीति के बावजूद यहां किसानों को अपनी उपज बेचने के लिये लू के थपेड़ों के बीच तपती धूप में कई कई घंटों तक खडे रहने को विवश होना पड रहा है

लेकिन सम्बंधित अधिकारियों का ध्यान अन्नदाता की इस दुर्दशा की ओर नहीं पड रहा है जिससे अन्नदाताओं में खासी नाराजगी दिखाई पड़ रही है। 

किसानों का गेंहू खरीदने के लिये वैसे तो कृषि उत्पादन मंडी समिति के परिसर में गेंहू क्रय केन्द्र स्थापित किये गये हैं। जहां पर किसानों के लिये टीन शेड नीलामी चबूतरे, धूप से बचने के लिये छाया, पानी तथा खाने पीने की दुकाने भी मौजूद है लेकिन इसके बावजूद उत्तर प्रदेश राज्य खाद्य एवं आवश्यक वस्तु निगम का गेंहू क्रय केंद्र पाली रोड पर सड़क के किनारे संचालित हो रहा है जहां पर किसानों के लिये खान पान की व्यवस्था तो दूर धूप, धूल तथा बरसात से बचने के लिये भी कोई स्थान नहीं है।

गेंहू की तौल के समय किसानों, लेवरों तथा क्रय केन्द्र प्रभारी तक को लू के थपेड़ों के बीच तपती धूप में घंटों खड़े रहना पड़ता है जिसके फलस्वरूप किसी समय इन लोगों की तबियत खराब होने की आशंका बनी रहती है। जिस स्थान पर गेहूं की खरीद की जाती है वह स्थान भी   निगम का नहीं है और न ही उसका किराया निगम जमीन मालिक को अदा करता है। यह बात अलग है कि जिस स्थान पर खरीद होती है वही पर आवश्यक वस्तु निगम ने किराये पर गोदाम ले रखे हैं जिनमें कोटेदारों को वितरित होने बाला खाद्यान्न भरा रहता है। जिस कारण निगम किसानों से खरीदा गेहूं खुले स्थान पर रखने के लिये विवश हैं। यदि किसी समय बरसात होने लगे तो किसानों से खरीदा गया गेहूं भीग कर खराब होने से रोका नहीं जा सकता जिससे बिभाग को काफी नुकसान होने की संभावना भी बनी रहती है। 

उल्लेखनीय है कि हर वर्ष यह क्रय केंद्र नवीन मंडी स्थल में ही लगता था जहां पर किसानों को हर सुविधायें उपलब्ध थी लेकिन इस वर्ष कुछ नेता टाइप लोगों ने अपने स्वार्थ के चलते अधिकारियों को दिग्भ्रमित कर इस क्रय केन्द्र को पाली रोड पर सड़क के किनारे एक ऐसे स्थान पर लगवाने में सफल अर्जित कर ली जहां पर किसानों को किसी प्रकार की कोई सुविधा नहीं है।  इस संबंध में अपना गेंहू तौलने आये जिला पंचायत सदस्य लाला राम का कहना है कि यह देख कर आश्चर्य हो रहा है कि किसानों के लिये हर तरह से उपयुक्त मंडी स्थल के बजाय यहां सड़क के किनारे गेहूं क्रय केन्द्र स्थापित किया गया है जहां पर सुविधायें तो दूर बैठने तक के लिये कोई उपयुक्त स्थान नहीं है। इस समस्या को वह अधिकारियों के संज्ञान में लायेंगे।

 

खुले आसमान के नीचे धूप में चल रहा क्रय केंद्र

हम तो मुलाजिम है जैसा अधिकारी निर्देश देंगे वैसा करेंगे: पाठक

शाहाबाद (हरदोई)। उत्तर प्रदेश राज्य खाद्य एवं आवश्यक वस्तु निगम विकास खंड शाहाबाद के गोदाम प्रभारी नागेश्वर पाठक से जब इस प्रतिनिधि ने पूंछा कि आपने गेहूं क्रय केंद्र ऐसे स्थान पर स्थापित किया जहां पर किसानों के लिये मूलभूत सुविधायें तक नहीं है धूप में कोई किसान बीमार भी पड़ सकता है तथा बरसात से बचने के लिये भी कोई स्थान नहीं है।

इसके जबाब में गोदाम प्रभारी पाठक ने तपाक से जबाब दिया कि हम तो छोटे से मुलाजिम है जैसा अधिकारी निर्देश देंगे वैसा करेंगे। हम भी किसानों के साथ धूप में तप रहे हैं। 
 

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments