बार कौंसिल ऑफ उत्तर प्रदेश ने भी एस डी एम रामप्रकाश के विरुद्ध अधिवक्ताओं के संघर्ष का समर्थन किया

बार कौंसिल ऑफ उत्तर प्रदेश ने भी एस डी एम रामप्रकाश के विरुद्ध अधिवक्ताओं के संघर्ष का समर्थन किया

बार कौंसिल ऑफ उत्तर प्रदेश ने भी एस डी एम रामप्रकाश के विरुद्ध अधिवक्ताओं के संघर्ष का समर्थन किया


भ्रष्ट एस डी एम रामप्रकाश वर्ख़ास्त हो:अजय शुक्ला

 नरेश गुप्ता ब्यूरो रिपोर्ट


शाहाबाद हरदोई।तहसील के अधिवक्ता भवन में बार कौंसिल ऑफ उत्तर प्रदेश के सदस्य एवं पूर्व चेयरमैन अजय कुमार शुक्ला ने कहा कि शाहाबाद के भ्रष्ट एस डी एम का स्थानांतरण नहीं वरन उसको वरख़ास्त किया जाएगा।
अधिवक्ता संघ शाहाबाद के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि अगर समय से जानकारी मिल जाती तो एस डी एम रामप्रकाश आज जेल में होते।उनका कहना था कि कहने के लिए लोकतांत्रिक व्यवस्था है परंतु नौकशाही पूरी की पूरी एक जैसी है।शिकायतों की जांच एजेंसियां अलग होनी चाहिये।उनका कहना था कि वर्तमान में भ्रष्टाचार निवारण संगठन, और विजिलेंस को खुली छूट दी गई है।यही कारण है कि इन एजेन्सियों ने अब तक कई बैंक अधिकारियों, पुलिस अधिकारियों, चकबंदी कानूनगो,लेखपालों को जेल भेजा है।

श्री शुक्ल ने आश्वस्त किया कि वह वकीलों के संघर्ष में उनके साथ हैं।संघर्ष को बल मिले, हम उच्चाधिकारियों से बात करेंगे।तहसील में किसी भी प्रकार का भ्रष्टाचार नहीं होने देंगे।प्रदेश व्यापी आंदोलन की रणनीति तैयार करेंगे।इस अवसर पर उन्होंने बताया कि अधिवक्ता स्वर्गीय सिद्धांत सिंह की पत्नी रश्मि सिंह को मुआवजा पाँच लाख रुपये की सहायता राशि स्वीकृत की गई है।


इस बैठक में संघ के अध्यक्ष अवधेश नारायण पाठक ने ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन के तहसील शाहाबाद इकाई का सकारात्मक समर्थन के लिए आभार प्रकट किया।उन्होंने कहा कि उनका संघर्ष एस डी एम रामप्रकाश के विरुद्ध जारी रहेगा।भ्रष्टाचार निवारण संघर्ष समिति के अध्यक्ष कृष्णवीर श्रीवास्तव ने भी अपना समर्थन व्यक्त किया।अधिवक्ता राम सनेही मिश्र, बलराम,विमलेश सिंह लोधी,ब्रजेंद्र अवस्थी,महामंत्री रामराज सिंह,वरुणेश चन्द्र मिश्र आदि ने भी एस डी एम की भ्रष्ट कार्यशैली की निंदा की।
उधर बार कौंसिल ऑफ उत्तर प्रदेश की अनुशासन समिति के सदस्य दिग्विजयसिंह सिकरवार ने बताया कि बार कौंसिल ऑफ उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष हरि शंकर सिंह ने भी अधिवक्ताओं के आंदोलन को पूर्ण समर्थन देने की घोषणा की है।

Comments