मुख्य विकास अधिकारी निधि गुप्ता  ने प्रा0वि0 बिलहरी का किया औचक निरीक्षण 

मुख्य विकास अधिकारी निधि गुप्ता  ने प्रा0वि0 बिलहरी का किया औचक निरीक्षण 

मुख्य विकास अधिकारी निधि गुप्ता  ने प्रा0वि0 बिलहरी का किया औचक निरीक्षण 

कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय बिलहरी का किया गया औचक निरीक्षण

नरेश गुप्ता ब्यूरो रिपोर्ट

शाहाबाद हरदोई।मुख्य विकास अधिकारी निधि गुप्ता वत्स ने विकास खण्ड शाहाबाद के प्रा0वि0 बिलहरी का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के समय इ0प्र0अ0 निमिषा गुप्ता तथा दो अध्यापक उपस्थित थे। उन्होने बताया कि यह स्कूल अंगे्रजी माध्यम में है। इस स्कूल के बच्चों से मुख्य विकास अधिकारी ने अंग्रेजी एवं गणित के कुछ सामान्य श्रेणी के प्रश्न पूछे गये, बच्चों के शैक्षिक स्तर को सुधारने की जरूरत है। इस विद्यालय में अभी तक यूनिफार्म एवं बैग का वितरण नही हुआ है। इस सम्बन्ध में मुख्य विकास अधिकारी ने खण्ड शिक्षा अधिकारी का स्पष्टीकरण प्राप्त करने तथा यूनिफार्म वितरण करने के निर्देश दिये। उन्होने पाया कि विद्यालय में आधारभूत सुविधाएं यथा स्वच्छ शौचालय, पेयजल, बाउण्ड्रीवाॅल उपलब्ध है, परन्तु किचन सेड नही है।

मौके पर उपस्थित ग्राम प्रधान को किचेन सेड बनवाने के निर्देश दिये गये। इस अवसर पर खण्ड विकास अधिकारी शाहाबाद ऋषिपाल, एवं जिला कार्यक्रम अधिकारी बुद्वि मिश्रा उपस्थित रहे। 
इसी क्रम में इसके उपरान्त आंगनबाड़ी केन्द्र बिलहरी का निरीक्षण किया गया। कार्यकत्री राममूर्ति उपस्थित थी इसी केन्द्र पर पंजीकृत 3 वर्ष से 6 वर्ष की उम्र के 42 बच्चों के सापेक्ष 5 बच्चें उपस्थित थें। स्पष्ट है कि आंगनबाड़ी कार्यकत्री द्वारा केन्द्र के संचालन हेतु समुचित ध्यान नही दिया जा रहा है। इस सम्बन्ध में जिला कार्यक्रम अधिकारी को संबंधित सुपरवाइजर एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी का स्पष्टीकरण प्राप्तकर उत्तरदायित्व निर्धारित करने के निर्देश दिये तथा 15 दिन में सुधार न होने पर आंगनबाड़ी कार्यकत्री के विरूद्व कार्यवाही करने के निर्देश दिये। 


इसके उपरान्त कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय बिलहरी का निरीक्षण किया गया। यहाॅ वार्डन निधि शुक्ला एवं अन्य अध्यापक उपस्थित थे। विद्यालय में पंजीकृत 100 बच्चों के सापेक्ष 86 बच्चे उपस्थित पाये गये। मुख्य विकास अधिकारी द्वारा तीनो कक्षाओं में जाकर बच्चों के शैक्षिक स्तर को परखा गया। बालिका छात्रावास, रसोई घर, शौचालयो का निरीक्षण किया गया। प्रत्येक कक्षा के सबसे कमजोर 3-3 बच्चों को निन्हित कर अलग से अतिरिक्त शिक्षण करने के निर्देश दिये गये ताकि कमजोर बच्चों के शैक्षिक स्तर में सुधार हो सके।

इसके साथ ही कक्षा 8 के बच्चों को उनके भविष्य के लक्ष्य के निर्धारण हेतु उन्हे समुचित मार्ग दर्शन प्रदान करने हेतु नाटक आदि के माध्यम से जागरूक करने तथा पर्यावरण एवं कवच अभियान के बारे में भी नाटक आदि के माध्यम से प्रशिक्षित करने के निर्देश दिये गये। इसके बाद पोषण वाटिका एवं परिसर का निरीक्षण किया गया तथा परिसर जमा निष्प्रयोज्य सामग्री के तत्काल निस्तारण हेतु निर्देशित किया गया। इस अवसर पर खण्ड विकास अधिकारी शाहाबाद ऋषिपाल सिंह एवं निशांत अंसारी जिला समन्वयक बालिका शिक्षा उपस्थित रहे।

Comments