महोब्बत में गम को उठाकर तो देखो, दिलों को दिलों से मिलकर तो देखो

महोब्बत में गम को उठाकर तो देखो, दिलों को दिलों से मिलकर तो देखो

मिलेंगी हमेशा तुम्हे मंजिले सब ,जो खुद से ही नज़रे मिलाकर तो देखो'

पाली, हरदोई -

रामलीला के आयोजन के शुरुआत में मैदान पर आहूत हुए कवि सम्मेलन में कवियों द्वारा देश प्रेम का काब्य पाठ कर श्रोताओं के शरीर में नई स्फूर्ति पैदा की गई वहीं हास्य काब्य से हँसने पर मजबूर भी किया गया।कवि सम्मेलन की शुरुआत माँ शारदे पर पुष्प अर्पित व दीप प्रज्वलित कर क्षेत्रीय विधायक माधवेंद्र प्रताप सिंह रानू,पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष कमलाकांत बाजपेई व प्रीतेश दीक्षित ने की। 

नगर के रामलीला मैदान पर आयोजित कवि सम्मेलन में गैर जनपदों से आए कवियों ने काब्य पाठकर समा बांध दिया।जिससे रामलीला मैदान तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा।कवितापाठ का शुभारंभ  सर्वप्रथम एकता भारती ने माँ शारदे की वंदना पढ़कर किया  जिसे सुनकर वहाँ पर उपस्थित श्रोता माँ शारदे की भक्ती में डूब गए।

पुनीत शुक्ल ने अपनी कविता के माध्यम से माँ के महत्व को बताया,  शिवम कुमार शुक्ला ने अपने मुक्तकों से देशभक्ति की लहर दौड़ा दी तो उदयराज सिंह द्वारा जब अपनी ग़ज़ल 'महोब्बत में गम को उठाकर तो देखो, दिलों को दिलों से मिलकर तो देखो।

मिलेंगी हमेशा तुम्हे मंजिले सब ,

मिलेंगी हमेशा तुम्हे मंजिले सब ,जो खुद से ही नज़रे मिलाकर तो देखो'

जो खुद से ही नज़रे मिलाकर तो देखो' का पाठ किया गया तो बहाँ पर मौन सभी दर्शक झूम उठे और पूरा पांडाल तालियों की गड़गड़ाहट से गुंजायमान हो उठा।इसके उपरांत जमुना प्रसाद 'अबोध' ने अपनी हास्य की प्रस्तुति से लोगों को जमकर ठहाके लगवाये।

हरदोई से चलकर आये पवन कश्यप ने अपने गीत मैं गाऊंगा गीत अनूठे,तुम केवल बैठी रहना के द्वारा दर्शकों को प्रेमरस से सराबोर किया इसके साथ प्रशांत बाजपेयी, डॉ विजयलक्ष्मी शुक्ला,गुजरात से आये हरेंद्र सिंह ने भी अपनी काव्य प्रस्तुत कर वाहवाही लूटी।

कवियों ने अपनी अपनी कविता का पाठ जिसमे कोई पाकिस्तान पर वर्षा तो किसी ने नेताओं को लपेटा तो वहीं किसी ने धारा 370 पर वार किया तो किसी ने श्रंगार रस से दर्शकों को प्रेम में सराबोर किया।मंच का संचालन कानपुर से आए कवि  मुकेश श्रीवास्तव ने किया।

इस अवसर पर आयोजक अमर प्रकाश बाजपेयी के अलावा रामनरेश सिंह चौहान, सुखदेव पांडेय,विमल प्रकाश मिश्रा, श्याम सिंह, श्यामनाथ बाजपेयी नीशू बाजपेयी अजीत मिश्रा गिरीश दीक्षित, सन्दीप त्रिवेदी,पंकज मिश्रा,  आकाश गुप्ता शिवम तिवारी अमित गुप्ता  रामू अग्निहोत्री अमित अग्निहोत्री प्रांजुल वाजपेई प्रशांत  मनोज अग्निहोत्री आशीष शुक्ला आलोक शुक्ला ऋषभ कात्यायन,अनुराग अवस्थी,अजीत मिश्रा,राजन बाजपेयी, ,अमित अग्निहोत्री,प्रदीप,अवस्थी,आलोक शुक्ला,सचिन अवस्थी आदि के साथ साथ नगर व क्षेत्र के सैकड़ों लोग मौजूद रहे।

Comments