भैलामऊ के काली मंदिर पर पूर्णिमा मेले में लड़की से हुई छेड़छाड़

भैलामऊ के काली मंदिर पर पूर्णिमा मेले में लड़की से हुई छेड़छाड़

सजातीय युवक पर ही छेड़छाड़ का आरोप

● पुलिस ने पीड़िता के भाई और भतीजो को ही चौकी पर बिठाया

पाली, हरदोई ।

भैलामऊ के काली मंदिर पर पूर्णिमा मेले के दौरान एक युवक ने सजातीय युवती को छेड़ दिया। जिसके बाद दोनों पक्षों में गालीगलौज के बाद जमकर लाठियां चली। दबंग युवक के परिजनों ने पीड़ित पक्ष को दौड़ा दौड़ा कर पीटा। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने भी आरोपी को क्लीनचिट देते हुए पीड़ित पक्ष को ही सवायज़पुर चौकी पर बैठा लिया। खबर लिखे जाने तक पुलिस पूंछतांछ के नाम पर उन्हें चौकी पर बिठाए थी। 

लोनार थाना क्षेत्र के भैलामऊ गांव में काली माता का मंदिर हैं। इस मंदिर पर बैसाख की पूर्णिमा को मेला लगता हैं। इस दिन लोग मंदिर में पूजा अर्चना कर माता से मनबांछित फल मांगते हैं। लोगों की ऐसी मान्यता हैं कि देवी के दरबार में मांगी गई हर मुराद पूरी होती हैं। शनिवार को पूर्णिमा मेले में आसपास इलाके के लोग भी आये थे। पाली से गिहार समुदाय के लोग भी मंदिर में पूजा अर्चना के लिए गाजे बाजे के साथ पहुंचे थे। वहीं सवायज़पुर के भी गिहार समाज के लोग भी मौजूद थे। 

सवायज़पुर के गिहार समाज के एक युवक ने एक पाली की गिहार लड़की को सरेआम छेड़ दिया। यह देख लड़की के परिजनों ने विरोध जताया। जिसके बाद दबंग युवक और उसके परिजनों ने पीड़ित लड़की के परिजनों पर जमकर लाठियां भांजी। दबंगो ने लाठी-डंडो बेल्ट और लात-घूंसों से दौड़ा दौड़ा कर पीटा। गांव वालों के आ जाने से उनकी जान बच सकी। इसी बीच सूचना पाकर पहुंचे सवायज़पुर चौकी इंचार्ज अखिलेश सिंह ने दबंगो को पकड़ने की बजाए पीड़ित लड़की के भाई और दो भतीजो को पकड़ लिया और उन्हें चौकी पर ले आये। 

पुलिस की इस करतूत से पीड़ित पक्ष में गहरी नाराजगी हैं। पीड़ित पक्ष का कहना हैं कि अगर आरोपियों को पुलिस ऐसे ही शह देगी तो लड़कियों की इज्जत बचाना मुश्किल हो जाएगा। आरोपी युवक ने पूंछतांछ करने की बजाए दरोगा जी पीड़ित लड़की के भाई से पूंछतांछ करने में जुट गए।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments