मुकदमें के रूप में मिली सपा नेता को पीड़ित की आवाज उठाने की सजा

मुकदमें के रूप में मिली सपा नेता को पीड़ित की आवाज उठाने की सजा
  • प्रेसवार्ता में बोले सपा नेता संजय, अपराधियों  पर कार्यवाही के स्थान पर सपा नेताओं का उत्पीड़न कर रही हरदोई पुलिस

हरदोई। पीड़ित की आवाज उठाने पर पुलिस द्धारा किस कदर प्रकार लोगों को प्रताड़ित करने का काम किया जाता है इसकी बानगी हरदोई जिले में उस समय देखने को मिली जब जिले के एक सपा नेता ने प्रेसवार्ता कर पुलिस के उत्पीड़न की पोल खोली। समाजवादी पार्टी के प्रदेश सचिव सपा नेता संजय कश्यप ने नगर के सुप्रसिद्ध होटल में आयोजित प्रेसवार्ता में हरदोई पुलिस पर खुद को परेशान करने के गंभीर आरोप लगाते हुए बताया कि जिले की कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है और हरदोई पुलिस अपराधियों को पकड़ने का काम छोड़कर सपा नेताओं पर फर्जी मुकदमें लिखने के काम में व्यस्त है।

उन्होंने बताया कि बीती 5 अगस्त को नगर के मोहल्ला लाइन पुरवा निवासी अजय कश्यप पुत्र महावीर की हत्या कर दी गयी थी जिसमे कार्यवाही के लिए उन्होंने 6 अगस्त को शहर कोतवाल को फोन कर रिपोर्ट दर्ज कर परिवार को न्याय दिलाने की मांग की थी।  बकौल संजय जब उन्होंने 6 अगस्त को शहर कोतवाल को फोन किया तब कोतवाल ने फोन पर उनसे गलत तरीके से बात करते हुए उल्टे उन पर ही मुकदमा दर्ज करने की धमकी दी जिसकी वॉइस रिकॉर्डिंग उनके पास मौजूद हैं। श्री कश्यप ने बताया कि 7 अगस्त को अजय कश्यप की मां मधु कश्यप की ओर से दी गई तहरीर के आधार पर शहर कोतवाली में धारा 302 के तहत हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था

जिसमें अभी तक किसी भी मुल्जिम की गिरफ्तारी नहीं की गई है। उन्होंने बताया कि अजय की हत्या का मुकदमा दर्ज होने के दिन ही शहर कोतवाली पुलिस ने उनके ऊपर मुकदमा अपराध संख्या 544/19 में धारा 186/147/ 149/ 332/ 353/ क्रिमिनल लॉ एक्ट 1931(ए)(बी) एक्ट के तहत उल्टे उनके व उनके अन्य करीब 50 साथियों पर बलवा करने का फर्जी मुकदमा दर्ज कर दिया जिसकी जानकारी उन्हें लगभग ढाई महीने के बाद 25 अक्टूबर को पुलिस द्वारा दी गई। उन्होंने बताया कि करीब ढाई महीने तक पुलिस उनके ऊपर दर्ज किए गए मुकदमे को दबाए बैठी रही जबकि उनके ऊपर जो मुकदमा दर्ज किया गया

वह पूरी तरह झूठा है क्योंकि उस दौरान वह वहां पर मौजूद नहीं थे। उनकी मौजूदगी का कोई वीडियो पुलिस के पास नही है और न ही उनकी मौजूदगी से संबंधित कोई खबर किसी समाचार पत्र में प्रकाशित हुई है। प्रेस वार्ता में बोलते हुए श्री कश्यप ने कहा कि एक गरीब पीड़ित मजलूम की मदद करना अगर उनका गुनाह है तो वह ऐसे गुनाह आगे भी करते रहेंगे फिर चाहे इसके लिए उन्हें जेल भी क्यों न जाना पड़े। सपा नेता संजय कश्यप ने कहा कि हरदोई पुलिस दोहरी मानसिकता के साथ काम कर रही है और सरकार के इशारे पर पुलिस द्धारा लगातार उनके ऊपर फर्जी मुकदमें लिखे जा रहे हैं।

उन्होंने बताया कि इससे पूर्व भी उनको परेशान करने के लिए पुलिस 3 फर्जी मुकदमें लिख चुकी है जिसमें उनपर कोई दोष सिद्ध नहीं हुआ और उन मुकदमों में पुलिस द्वारा उनको क्लीन चिट भी दी जा चुकी है। श्री कश्यप ने प्रेसवार्ता में एसपी आलोक प्रियदर्शी से शहर कोतवाल को जल्द से जल्द हटाये जाने व उनके तथा उनके साथियों पर लिखे गए फर्जी मुकदमे को वापस लिये जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि यदि पुलिस समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न बंद नहीं करती है तो मजबूरन समाजवादी पार्टी कार्यकर्ता सड़कों पर उतरने के लिए बाध्य होंगे। उन्होंने कहा कि उनके ऊपर दर्ज किए गए फर्जी मुकदमे की संपूर्ण जानकारी वह जल्द ही सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष को देंगे।

प्रेसवार्ता के दौरान सपा नेता रामज्ञान गुप्ता, प्रशांत मिश्रा, धर्मेंद्र सिंह, मृतक अजय कश्यप की माँ मधु कश्यप व पिता महावीर कश्यप आदि मौजूद रहे।

 

Comments