लोहारु विधानसभा से नेता जीते तो मंत्री की कुर्सी, हारे तो हैट्रिक का कलंक माथे पर।

लोहारु विधानसभा से नेता जीते तो मंत्री की कुर्सी, हारे तो हैट्रिक का कलंक माथे पर।

 

सिवानी मण्डी ( सुरेन्द्र गिल )

भिवानी-महेन्द्रगढ लोकसभा के अतर्गत आने वाले नवाबी हलके लोहारू में इस बार का विधानसभा चुनाव कई राजनेताओं के लिए आर पार का चुनाव बन गया है।

जीत एक की ही होनी है। ऐसे में दो प्रमुख नेताओं में से एक को हार की हैट्रिक का सामना करना ही होगा। हार की इस हैट्रिक से बचने के लिए दोनों उम्मीदवारों ने दिन-रात एक किया हुआ है। लोहारू हलके का यह चुनाव जिन नेताओं के लिए चुनौती बना हुआ है, उनमें भाजपा प्रत्याशी जेपी दलाल और कांग्रेस प्रत्याशी सोमवीर सिंह हैं।

ये दोनों ही नेता विगत दो चुनाव हार चुके हैं। इस बार का चुनाव राजनीतिक भविष्य तय करेगा। जीत गए तो मंत्री तक कुर्सी नसीब हो सकती है, हार गए तो हैट्रिक का कलंक माथे पर लगेगा। लोहारु विधानसभा मे मोदी लहर मे भी हार जाने वाले जेपी दलाल अब लगातार लोगो के बीच जाकर वोट माग रहे है।

ऐसे मे जेपी दलाल पार्टी के गृहमंत्री अमित शाह की रैली बहल मे कर रहे है। अब आने वाला समय ही बतायेगा की लोहारु हल्के से किस नेता के सिर पर ताज सजेगा। 

Comments