माँ अनीता के लिये फरिश्ता बन कर आई पुलिस

 माँ अनीता के लिये फरिश्ता बन कर आई पुलिस

संवाददाता :-अजय कुमार यादव 

 

इंस्पेक्टर सुनील दत्त दुबे ने मां के जिगर के टुकड़े को खोज कर परिजनों को खुशियाँ लौटाई। 

 

भदोही :-

जनपद भदोही मे सुरियावा थाना क्षेत्र के अंतर्गत कौवापुर गांव मे घर से बाजार के लिए निकला बालक संगम पाल 4/4/2019 को गुम हो गया। देर शाम तक बेटा घर नहीं लौटा तो परिजनों ने तलाश की लेकिन बेटा नहीं मिला।

चारों तरफ खोजने के बाद पिता ने सुरियावा थाने में गुमशुदगी दर्ज करवा दी। गुमशुदगी दर्ज करने के बाद पुलिस ने भी बच्चे को तलाशा, लेकिन सफलता मिली.मामला सुरियावा थाना क्षेत्र के कौवापुर के संगम पाल पुत्र सुरेंद्र पाल का है। 4 अप्रैल को संगम पाल बाजार जाने के लिए घर से करीब 2:00 बजे निकला था। उसके बाद घर नहीं पहुंचा.।जेब मे सिर्फ 40 रुपए थे गुमशुदा कि मां अनीता ने बताया कि संगम पाल बाजार जाने के लिए निकला तो उसने कुछ पैसे मांगे थे,

जिस पर उन्होंने उसे 40 रुपए भी दिए। शाम को वह जब समय से घर नहीं पहुंचा तो उसके चचेरे भाई बाजार में जाकर पता किया तो बाजार में भी दिखाई नहीं यह सुनकर मां- बाप के होश उड़ गए। मोहल्ला और आसपास में जब तलाश किया तो उसका कुछ पता नहीं चला परिजन व बच्चे के चचेरे भाई राजन ने इसकी जानकारी थाना पुलिस को दी तो । थाना सुरियावा पर मु0अ0स0 80/19 धारा 363 भादवि पंजीकृत कराया।

पुलिस भी हरकत में आई, । बेटे की याद में बात करते हुए मां अनीता की आंखों में आंसू आ गए। उन्होंने बताया कि संगम पाल के गुमशुदा होने के बात मानो कि परिजनों के ऊपर पहाड़ सा टूट गया । संगम पाल का उसकी मां उसके लिए इंतजार कर रही थी।

तभी सुरियावा के तेजतर्रार एस. एच .ओ. सुनील दत्त दुबे जोकि (सिंघम) नाम से जाने जाते हैं। उनका फोन आया की आपका बालक मिल गया है। बेटे के मिलने कि खबर सुनते ही परिवार में खुशी की लहर दौड़ पड़ी। पुलिस ने अथक प्रयास कर बच्चे को प्रतापगढ़ से खोज कर परिजनों को खुशियाँ लौटाई ।

जिससे संगम पाल की मां अनीता देवी उनके परिजन और ग्राम वासियों ने सुरियावा एस .एच .ओ.सुनील दत्त दुबे (सिंघम) के कार्य की तेजी से प्रशंसा हो रही है। सूत्रों के मुताबिक सुनील दत्त दुबे (सिंघम) ऐसे स्पेक्टर हैं जिस थाने पर जाते हैं ।यह लोगों के दिलों में बस जाते हैं उनकी कार्यशैली ही कुछ ऐसी है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments