केन्द्र सरकार ने जारी किया फरमान,ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से जोड़ना होगा जरूरी

केन्द्र सरकार ने जारी किया फरमान,ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से जोड़ना होगा जरूरी

संवाददाता -अजय कुमार यादव 

लखनऊ:-

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार जल्द ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से जोड़ने के लिए अनिवार्य करेगी।

पंजाब के फगवाड़ा में लवली प्रोफेशनल विश्वविद्यालय में 106वीं भारतीय विज्ञान कांग्रेस में अपने अध्यक्षीय भाषण के दौरान कानून,इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि हम जल्द ही एक कानून लाने जा रहे हैं।

जिसके बाद ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से जोड़ना अनिवार्य होगा।
सम्बोधन के दौरान उन्होंने  कहा अभी दुर्घटना करने वाला कसूरवार व्यक्ति मौके से भाग जाता है। उसके बाद डुप्लीकेट लाइसेंस हासिल कर लेता है। यह उसको सजा से बचने में मदद करता है।

ऐसे में आधार से जोड़ने के बाद आप भले ही अपना नाम बदल लें,लेकिन आप बॉयोमेट्रिक्स नहीं बदल सकते हैं। आप आंखों की पुतलियों तथा उंगलियों के निशान को भी नहीं बदल सकते हैं।

आप जब भी डुप्लीकेट लाइसेंस के लिए आवेदन करने जायेंगे तो सिस्टम कहेगा कि इस व्यक्ति के पास पहले से ड्राइविंग लाइसेंस मौजूद है। और इसे दोबारा नया लाइसेंस जारी नहीं होना चाहिए।

केंद्र सरकार द्वारा जारी 'डिजिटल इंडिया' कार्यक्रम की तारीफ करते हुए मंत्री ने दावा किया कि इसने शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के बीच मौजूद फर्क को मिटाया है।

प्रसाद ने कहा, '123 करोड़ आधार कार्ड जारी किए गए हैं। 121 करोड़ मोबाइल फोन हैं। 44.6 करोड़ स्मार्ट फोन लोग इस्तेमाल कर रहे हैं। इंटरनेट के इस वक्त लगभग 56 करोड़ उपयोगकर्ता हैं। इसके अलावा ई कॉमर्स में भी 31 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। भारत की आबादी 130 करोड़ है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments