हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

जेल भेजकर प्रशासन बताने से भी इंकार कर रहा है कि कमलेश तिवारी कहां हैं। 

बिना जुर्म जेल भेजकर प्रशासन बताने से भी इंकार कर रहा है कि कमलेश तिवारी कहां हैं। 


बलिया प्रेस वार्ता


हिन्दू समाज पार्टी के प्रदेश महासचिव पुष्कर राय मोनू जी ने प्रेस वार्ता करके घनघोर संघर्ष का एलान किया और कहा कि हमारे मा0 राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी जी को पुलिस ने बिना किसी जुर्म के घर से उठा लिया है।

बताते चलें कि विगत 14 अगस्त को हिन्दू समाज पार्टी के कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों ने मिलकर अयोध्या राम जन्मभूमि पर कारसेवा किया था और गेट नम्बर 3 को तोड़ दिया था।

विगत दिनों से राम जन्मभूमि की नींव रखने की बात तिवारी  कह रहे थे और 6 दिसम्बर को कारसेवा करने का ऐलान कर चुके थे जिसके चलते  तिवारी जी को उनके घर से 3 दिन पहले ही पुलिस उठा ले गयी। 

तिवारी की पत्नी मिलने पार्टी के कई कार्यकर्ताओं के साथ फैजाबाद पहंचीं तो उन्हें मिलने भी नहीं दिया गया। उक्त के सम्बन्ध में जिलाध्यक्ष बलिया  रितेश वर्मा, प्रदेश महासचिव पुषकर राय मोनू जी समेत सैकड़ो कार्यकर्ताओं ने आर पार का संघर्ष करने का ऐलान किया।

साथ ही साथ जनता से भारतीय जनता पार्टी को पिछले चुनाव में वोट देने के लिए क्षमा भी मांगा।  राय जी का कहना था कि हमसे बहुत बड़ी भूल हुई जो हमने योगी जी और मोदी जी को देखकर वोट किया। और अपना वोट वापस भी मांगते हुए बताया कि अब जिन्दगी में दोबारा ऐसी भूल नहीं होगी। हिन्दूवादी छवि वाले योगी ने तो वही रूप दिखाया कि कोई शीर्षाषन करके सीधे गुलाटी मार गया हो।

एक तरफ तो बुलन्द शहर में 10 लाख से अधिक मुसलमान मस्जिद निर्माण के नाम पर बिना किसी परमीशन के एकत्र हुए बैठे हैं वहीं दूसरी तरफ केवल कारसेवा की बात कहने मात्र से तिवारी जी को गिरफ्तार कर लिया गया है। श्री राय का कहना था कि इस देश का हिन्दू देख रहा है। जो लोग राम जी के नाम पर कटोरा लेकर वोट मांगते रहे और 2 सीट से आज देश की सबसे ताकतवर पार्टी बने बैठे हैं।

उनका अपना कार्यालय तो बन गया लेकिन राम जी को तम्बू में ही रहना पड़ रहा है। एक तरफ तो मात्र महामहिम राष्ट्रपति महोदय का आदेश मात्र अनुच्छेद 35 ए कश्मीर के 10 लाख से अधिक लोगों की जिन्दगी तबाह करने के साथ साथ हमारे देशवासियों के टैक्स का 40 प्रतिशत हिस्सा मात्र मुट्ठी भर लोगों पर बरबाद किया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ मन्दिर निर्माण के लिए कोर्ट को बाधा बताया जा रहा है।

न सरकार खुद मन्दिर बनाना चाहती है और न ही किसी को बनाने देना चाहती है यह बात स्पष्ट हो गयी। लेकिन अपने कार्यकर्ताओं को कहा कि हम लोग 6 दिसम्बर को उससे भी अधिक भव्य कार्यक्रम करेंगे और प्रशासन हमें गिरफ्तार नहीं सीधे गोलियों से ही भून डाले तो भी हमें कोई परवाह नहीं है।

अब इस देश में सेकुलरिज्म नाम का फ्राड और दोगली नीति नहीं चलने दिया जायेगा। एक तरफ सरकार बी एच पी और शिवसेना की ताकत दिखाने के लिए हमारी सरकारी बसों का इस्तेमाल करके लाखों की भीड़ अयोध्या में लाने का काम करती है। वहीं दूसरी तरफ हम मुट्ठी भर हिन्दू समाज पार्टी  के शौर्य से सरकार इतना खौफ खाये बैठी है कि निरपराध लोगों को जेल में ठूंसने पर अमादा है। देखना है सरकार कितने लोगों को जेल में ठूंसती है।

अब हर घर से एक कमलेश निकलेगा कहते हुए उग्र आन्दोलन व आर पार के संघर्ष की चेतावनी प्रशासन को दिया। साथ ही साथ कोर्ट के प्रकरण पर कहा कि अब हजरतबल में रखे हुए मोम्मद साहब के बाल को हम लोग भी कोर्ट में चुनौती देंगे तभी पता चलेगा कि आस्था पर हमला करने पर कितना दर्द होता है।

पूंछने पर कहा कि हजरत बल में रखा हुआ बाल मुहम्म्द साहब का है यह हम कैसे मान लें। इसका जवाब रूढ़िवाद फैलाने वालों को देना चाहिए। अगर राम का जन्म अयोध्या में हुआ था यह सिद्ध करने की हिन्दू समाज को जरूरत है तो मुसलिम समाज भी सिद्ध करे कि वह बाल असली है और मोहम्मद साहब का है। पत्रकार वार्ता के दौरान सैकड़ो लोग जमा हुए और कहा कि हम लोग जल मार्ग से अयोध्या के लिए आज ही कूच करेंगे। 

Loading...
Loading...

Comments