खबर का हुआ असर... गाजीपुर थाना क्षेत्र में पुलिस ने फर्जी (BSNL ON  DUTY) लिखा ट्रक पकड़ा, बीएसएनएल द्वारा शिकायत दर्ज... 

खबर का हुआ असर...  गाजीपुर थाना क्षेत्र में पुलिस ने फर्जी (BSNL ON  DUTY) लिखा ट्रक पकड़ा, बीएसएनएल द्वारा शिकायत दर्ज... 

खबर का हुआ असर...

विजय गुप्ता /रणवीर सिंह 
लखनऊ, उत्तर प्रदेश 

गाजीपुर थाना क्षेत्र में पुलिस ने फर्जी (BSNL ON  DUTY) लिखा ट्रक पकड़ा, बीएसएनएल द्वारा शिकायत दर्ज... 

• निजी ठेकेदार कर रहे बीएसएनएल के नाम का दुरूपयोग 

लखनऊ:- राजधानी लखनऊ के इंदिरा नगर सेक्टर-16, में 3 दिन पहले बिना अनुमति के रात में सड़कों पर टाटा स्काई की केबल डालने की जानकारी विजय गुप्ता, सामाजिक कार्यकर्ता द्वारा सभी सम्बंधित जिम्मेदारों को दी गयी थी।

 लेकिन नगर निगम के अवर अभियन्ता वीरेन्द्र पांडेय उस दिन 04 घंटे बाद भी मौके पर नहीं पहुंचे थे, और आज 03 दिन बाद भी ना ही ठेकेदार पर अवैध रूप से सड़कें बर्बाद करने पर कोई पेनल्टी या एफआईआर ही दर्ज हुई I 
इस खबर को स्वतंत्र प्रभात समाचार पत्र ने शीर्षक 

(इंदिरा नगर में बिना परमीशन बिछाई जा रही थी भूमिगत टाटा स्काई केबल) तथा आवाज प्लस ने प्रकाशित भी किया थाI

आज उसी क्षेत्र में सामाजिक कार्यकर्ता विजय गुप्ता ने एक गाड़ी संख्या UP78 BT 8798 पर (BSNL ON  DUTY) लिखा देखा और पास ही भूमिगत केबल के पाइप, दो पानी के टैंकर भी देखा तो उनको लगा कि यह कार्य तो 03 दिन पूर्व टाटा स्काई द्वारा किया जा रहा था और आज गाड़ी पर (BSNL ON  DUTY) लिखा  है। 

उन्होंने तुरन्त इस मामले की जानकारी बीएसएनएल के एसडीओ सुधांशु द्विवेदी, डिविजनल इंजीनियर ओझा, महाप्रबंधक अतुल को दिया, जिन्होंने बताया कि बीएसएनएल द्वारा यहाँ पर कार्य कराने की कोई जानकारी उन्हें नहीं है और यह गाड़ी भी बीएसएनएल की नहीं है, उन्होंने मौके पर जल्द एसडीओ के पहुंचने की जानकारी दिया, तब तक समाजसेवी विजय गुप्ता ने इस मामले की सारी जानकारी गाजीपुर थाना प्रभारी बृजेश को भी दिया और पुलिस द्वारा यह गाड़ी जिसमें भूमिगत ड्रिलिंग मशीन भी रखी है, को मौके पर अनुमति, कागजात ना होने पर थाना गाजीपुर लाया गया।

डिविजनल इंजीनियर के नेतृत्व में थाना गाजीपुर पहुंची बीएसएनएल की टीम में एसडीओ सुधांशु दिवेदी द्वारा अनाधिकार बीएसएनएल के नाम का दुरूपयोग करने पर इस गाड़ी नम्बर के साथ शिकायत दर्ज कराई गई है।
 
अब देखने वाली बात यह होगी कि नगर निगम की तरह कहीं पुलिस विभाग भी इस गाड़ी पर कार्यवाही करने से परहेज तो नहीं करता ?

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments