बिजली विभाग के कर्मियों के खिलाफ आक्रोशित ग्रामीणों ने किया हंगामा

बिजली विभाग के कर्मियों के खिलाफ आक्रोशित ग्रामीणों ने किया हंगामा
  1. कर्मियों पर ट्रांसफार्मर का तार नोचने का ग्रामीणों ने लगाया आरोप
  2. एक सप्ताह से आंधेरे में रहने को विवश हैं ग्रामीण 

जमुई:-बिजली विभाग के कर्मियों की मनमानी से बरहट प्रखंड अंतर्गत नुमर पंचायत के केबाल गांव के महादलित टोले के ग्रामीण एक सप्ताह से आंधेरे में रहने को विवश हैं।बिजली विभाग के कर्मियों द्वारा ट्रांसफार्मर के बदले ग्रामीणों से पैसा मांगा गया था जिसे ग्रामीणों द्वारा नहीं देने पर विभाग के कर्मियों ने ट्रांसफार्मर पर लगा तार नोच डाला।इसी वजह से ग्रामीण ट्रांसफार्मर के पास जमा होकर हंगामा करने लगे।ग्रामीणों को हंगामा करते देख विभाग के कर्मी मौके से भाग खड़े हुए।

बताया जाता है कि मलयपुर लक्ष्मीपुर मुख्य मार्ग के बाबा के ढाबा के पास केवाल गांव का ट्रांसफार्मर लगा था जिसके खराब होने के बाद केवाल मुसहरी,रविदास टोला,यादव टोला,ऑक्सफोर्ड स्कूल,साव टोला 5 दिन से अंधेरे में है।पूर्व ट्रांसफार्मर के जल जाने पर ग्रामीणों ने इसकी शिकायत विभाग के पदाधिकारियों से कई बार की थी।पदाधिकारियों द्वारा ग्रामीणों को आश्वासन दे ट्रांसफार्मर लगाने की बात कही गई।वहीं बीते 2 दिन पूर्व  ग्रामीणों के अथक प्रयास व विभाग द्वारा 63 केवी का ट्रांसफॉर्मर पहुंचाया गया।फिर बाद में कर्मियों ने वहां 100 केवी का  ट्रांसफार्मर लगाने की बात कही थी।उसके बाद शुक्रवार की सुबह वहां 100 केवी का ट्रांसफॉर्मर लगाया गया। ट्रांसफार्मर लगने के बाद बिजली सप्लाई भी कर दिया गया।

इसके बाद ट्रांसफार्मर लगाए मिस्त्री ने ग्रामीणों से ₹5000  का डिमांड किया। ग्रामीणों द्वारा  मजदूरी के रूप में  1500  रुपए की राशि दी गई ।इसी बात पर  कर्मी उत्तेजित हो कर तार को नोच डाला। तार को नाचते देख  वहां  ग्रामीण हंगामा करने लगे  और देखते ही देखते काफी संख्या में ग्रामीण जुट गए।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments