मुनिश्री प्रमाण सागर जी महाराज ने देशभर के समस्त जैन वंधुओ से सामाजिक जन गणना करने के लिए आव्हान किया है

विदिशा से शोभित जैन की रिपोर्ट

जैन समाज के  सरकारी आंकड़े जनगणना में आऐ तो वह वास्तविक जनसंख्या से वहूत कम आंकी गई हैं! भारतवर्ष में हुई जनगणना में जैन समाज की जनसंख्या देशभर में महज 46 लाख बताई गई है,

जबकि जैन समाज की संख्या दो करोड़ से भी अधिक है! उसका मुख्य कारण हैं, जैन समाज के लोग जैन न लिखकर गौत्र या उपजाति का उल्लेख करते हैं! हालांकि वुन्दैलखंड में अधिकांश लोग जैन लिखते हें

लेकिन स्वेताम्बर जैन समाज में शाह और अन्य अन्य गौत्र तथा मारवाड़ी जैन समाज एवं अग्रवाल जैन समाज में भी गौत्र लिखने के चलन से समाज की जनसंख्या का सही आंकड़ा सामने नहीं आ पाता!         

      जैन समाज का वास्तविक स्वरूप  देश के सामने लाने के लिए संत शिरोमणि आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के शिष्य मुनिश्री प्रमाण सागर जी महाराज ने देशभर के समस्त जैन वंधुओ से सामाजिक जन गणना करने के लिए आव्हान किया है।

मुनि श्री कहते हें कि आज जैन समाज क ई उपजातिओं में वंटी हुई हैं। और उसके कारण समाज की सही गणना नही हो पाती हैं, उसके लिये देश भर में स्वेताम्बर, दिगंबर, तेरह पंथी, स्थानकवासी , खंडेलवाल, परवार, गोलालारे, आदि आदि

सभी  जो भी अहिंसाधर्म भगवान महावीर को मानने वाले हैं वह अपने नाम के आगे जैन लिखें। यदि आवश्यक हैं तो वाद में अपनी उपजाति या गौत्र लिखें! मुनि श्री ने समस्त देशभर में रहने वाले जैन समाज के लोगों को एक प्रो फार्म दिया हैं

जिसको भरकर आप प्रमाणिक एप के माध्यम से एवं निर्धारित वेवसाईट के माध्यम से भेज सकते हें जिससे जैनिओं की वास्तविक स्थिती सामने आ सके! इस हेतू भारत वर्ष में जैन समाज की  जनगणना भी प्रारंभ हो रही है।

जिले से जनगणना प्रभारी अविनाश जैन विदिशा  ने वताया वर्तमान समय में सरकारी आंकड़े के अनुसार विदिशा जिले की जनसंख्या मात्र १९ हजार के आसपास वताई जाती हें जब कि जिले में जनसंख्या ५० हजार से भी ऊपर हैं! अकेले विदिशा तहसील में ही २० हजार से ऊपर हें! संपूर्ण भारत की यही स्थिति हें ।

उपरोक्त कारण से ही मुनि श्री प्रमाण सागर जी महाराज के आव्हान पर जैन धर्म वड़ाओ अभियान के अन्तर्गत जैन धर्म की सुरक्षा, संरक्षण, एवं स शक्तीकरण विकास एवं उत्थान हेतू पूरे भारतवर्ष में जैन समाज की जनगणना को प्रारंभ किया जा रहा है! 

कृपया नीचे वेवसाइट पर जाकर आप अपने परिवार की जानकारी भेजें! यदि आपको किसी भी प्रकार की समस्या आती हें तो आप हमसे भी संपक कर सकते हैं!
अविनाश जैन विदिशा 9425684433 फोन एवं वाट्सएप नं 

https://www.censusforjain.com

 

Form

https://www.censusforjain.com/jains-household-enumeration.html


आपका सहयोग अमूल्य है
जनगणना वाले इस फॉर्म को दिगम्बर और श्वेताम्बर समाज के सभी लोग भर रहे हैं। इससे जैन समाज का पूरा डाटा देश के सामने आ जाएगा। आप सभी से निवेदन हैं सभी सहयोग करें!एवं अपने आस पास के लोगों को भी प्रेरित करें!

Loading...
Loading...

Comments