जौनपुर।लड़की की संदिग्ध हालत मे मिली लाश,परिजनो ने गांव के दबंगो के उपर लगाया रेप के बाद हत्या का आरोप।

जौनपुर।लड़की की संदिग्ध हालत मे मिली लाश,परिजनो ने गांव के दबंगो के उपर लगाया रेप के बाद हत्या का आरोप।

फिरोज खान
 मङियाहू जौनपुर 


जौनपुर।

खुटहन के शेरापट्टी गांव में शाहगंज मार्ग पर शुक्रवार की देर रात सड़क किनारे एक युवती की संदिग्‍ध परिस्थितियों में शव मिलने से सनसनी फैल गई थी।

पुलिस ने शव को तुरंत कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया,लड़की के परिजनो को सूचना भी देना उचित नही समझा। अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि यह हत्या है अथवा दुर्घटना । वहीं पुलिस इस मामले की जांच प्रेम प्रसंग को भी जोड़कर कर रही है।

उक्त गावं के जयभीम यादव की पुत्री सुषमा यादव (17) कक्षा 9 की छात्रा थी उसका शव संदिग्ध  हालत में सड़क के किनारे देख गांव के लोगों ने इसकी सूचना परिजनों को दी। घरवालों ने मामले की जानकारी तुरंत ही पुलिस को भी दी।

मौके पर डायल 112 के जवान पहुंच थाने से अन्य सिपाहियो को बुला रात 12 बजे ही शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। घटना के पीछे प्रेम प्रसंग का मामला बताया जा रहा है। युवती की हत्या हुई है या यह दुर्घटना है का राज पोस्ट मार्टम के बाद ही स्पष्ट हो सकेगा । लड़की का शव घर के पास ही पाया गया था।

 
लड़की की माॅ प्रेमा देवी व पिता जय भीम यादव ने बताया कि लड़की सवेरे से ही गायब थी गाव के गुरू प्रसाद यादव के घर पर ही लड़की के होने की सूचना गाव वालो ने दिया था ,जब वो उसके घर अपनी लड़की को लेने गया तो उक्त व्यक्ति के परिवार वालो ने उसके साथ मारपीट की ग्राम प्रधान राजबहादुर के आश्वासन पर की 2 घण्टे बाद लड़की को वो लौटा देगे

पर  वो लौटे पर लड़की वापिस नही आई ,रात मे उसकी लड़की की लाश मिली लड़की के गले पर चोट के निशान तथा सर पर किसी भारी चिज से मारने के निशान थे जिससे यह स्पष्ट हो रहा है कि उसकी हत्या की गई है।


शनिवार की सूबह पुलिस के आला अधिकारी भी मौके पर पहुचे एस पी सीटी अनिल पाण्डेय ने भी बताया की प्रथम दृष्टया मामला हत्या का लग रहा है,पोस्ट मार्टम रिपोर्ट के आधार पर ही आगे दबंगो के खिलाफ उचित कार्रवाई होगी।


थानाध्यक्ष दुर्गेश्वर मिश्रा ने बताया कि परिजनो ने लड़की के गायब होने की कोई सूचना नही दी थी,हत्या का आरोप गाव के ही एक परिवार पर लगा रहे है,  पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही वारदात को लेकर स्पष्ट तौर पर कुछ कहा जा सकेगा।तहरीर के आधार पर मुकदमा लिखा जा चुका है।


अब ऐसे मे यह बात उठती है कि जब यह स्पष्ट हो चुका है कि गाव के ही एक परिवार वाले ने लड़की को अपने घर मे रखा था तथा ग्राम प्रधान ने दो घंटे बाद लड़की को लौटाने की बात कही थी

फिर लड़की की लाश रात मे मिली,तो फिर पुलिस तत्परता से दंबगो के खिलाफ कार्रवाई करने से क्यो बच रही है।उक्त मामले मे खबर लिखे जाने तक किसी की गिरफ्तारी नही हुई है।

Comments