तिन्दवारी कस्बे में अन्ना पशुओं के आतंक से एक बुजुर्ग घायल, जिम्मदरो ने झाड़ा पल्ला

तिन्दवारी कस्बे में अन्ना पशुओं के आतंक से एक बुजुर्ग घायल, जिम्मदरो ने झाड़ा पल्ला
■ पशु आश्रय केंद्र में सिर्फ नाम के लिए 206 अन्ना पशु बन्द हैं।जबकि  सड़को और खेतों में घूम रहे हैं अभी भी 250 अन्ना पशु।
■ किसानों ने जिला प्रशासन से नगर पंचायत के अधिकारी व कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज कराने की किया मांग।
■ नगर पंचायत अन्ना पशुओं पर भी करती है भेदभाव।

 

तिन्दवारी(बाँदा)

रविवार की सुबह आवारा पशुओं के तांडव में एक पचहत्तर वर्षीय एक बुजुर्ग लहुलुहान हो गया। घायल को आनन-फानन में पीएचसी पहुंचाया गया।जंहा घायल की गम्भीर हालत होने के कारण जिलाअस्पताल रिफर किया गया।

          तिन्दवारी कान्हा पशु आश्रय केंद्र में 206 पशुओं को कानूनी तौर पर आश्रय मिला हुआ है जबकि कस्बे में केंद्र से बाहर घूम रहे लगभग250 अन्ना पशु किसानों की फसलें चौपट करने में लगे हैं। सड़को और खेतों में अन्ना घूम रहे अन्ना पशुओं ने रविवार की सुबह विकास नगर निवासी रामआसरे उर्फ अछरूवा (75) पुत्र पराग वर्मा को अपने ही घर के बाहर सुबह  बैठे कुल्ला मुखारी कर रहे थे ,तभी अन्ना पशुओं का झुण्ड बुजुर्ग को बुरी तरह से लहूलुहान कर दिया।

जिस पर परिवार वालो ने आनन-फानन में लाठी और डंडो से अन्ना पशुओ को भगाया और 108 नम्बर पर घटना की जानकारी दी, परन्तु कोई सहायता न मिलने पर ,वही सूचना पर पहुंचे किसान दलित युवा चेतना के जिला अध्यक्ष राजेंद्र कुमार द्विवेदी ने अपने वाहन से पीएससी पहुँचाया ।

जंहा डॉक्टर ने घायल के लहूलुहान शरीर में कई टाके लगाकर जिला अस्पताल रिफर कर दिया।वही कस्बे के  राजेन्द्र कुमार द्विवेदी, राजेश सिंह, अयोध्या सिंह,बृजेश सिंह,प्रमोद तिवारी सहित दर्जनों किसानों ने नगर पंचायत पर आरोप लगाया है और जिला प्रशासन से मांग की है  कि नगर पंचायत के अधिकारी व कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाना चाहिए।

  मालूम हो कि नगर पंचायत तिन्दवारी आश्रय केंद्र में सिर्फ नाम के लिए 206 अन्ना पशुओं को शरण दिए हुए है उनको भी बाहर घूम रहे 250 अन्ना पशुओं के बीच छोड़ दिया जाता है ।नगर पंचायत के इस तरह की हरकतबाज़ी से कस्बेवासियों सहित किसान परेशान हैं।किसानों ने जिलाधिकारी से इस समस्या से निजात दिलाने की कई बार मांग किया परन्तु जिला प्रशासन भी कार्यवाही करने में असमर्थ नजर आ रहा है।क्योंकि चेयरमैन अध्यक्षा सहित अध्यक्षापति भी भाजपा समर्थित है।

Comments