पुलिस की मौजूदगी में यमुना में समा गया किशोर 

पुलिस की मौजूदगी में यमुना में समा गया किशोर 
  • हरियाणा में लोकसभा चुनाव होने के कारण घटना के वक्त यमुना ब्रिज पर मौजूद थे कैराना कोतवाल
  • यमुना ब्रिज पर गोताखोर तैनात होता तो बचाई जा सकती थी किशोर की जान

वाज़िद अली कैराना 

कैराना।

साथियों संग यमुना में नहाने आया सत्रह वर्षीय हरियाणवी किशोर नहाते वक्त गहरे पानी में समा गया। गोताखोरों की आठ घण्टे की कड़ी मशक्कत के बावजूद डूबे हुए किशोर का कोई सुराग नही लग सका।

यमुना में डूबा किशोर अपने माता-पिता का इकलौता पुत्र बताया गया है। घटना से परिजनों में हड़कम्प मचा हुआ है। परिजनों का कहना है कि यदि यमुना ब्रिज पर गोताखोर तैनात होता तो उनके बेटे की जान बचाई जा सकती थी। घटना के वक्त कैराना कोतवाल राजेन्द्र कुमार नागर भी यमुना ब्रिज पर मौजूद बताये गए है।

बताया गया है कि हरियाणा के जनपद पानीपत के सनौली थानाक्षेत्र के गांव धनसौली निवासी सत्रह वर्षीय किशोर अमन पुत्र राममेहर अपने दो साथियों संग रविवार प्रातः लगभग दस बजे यमुना में नहाने के लिए आया था। बताया गया है कि तीनों नहाने के लिए जैसे ही यमुना में उतरे तो किशोर अमन गहरे पानी में चला गया। किशोर को डूबता देख साथ नहा रहे साथियों ने उसे बचाने का प्रयास किया, लेकिन वह कामयाब नही हो पाये।

इसके बाद अमन के दोनों साथी पानी से बाहर निकलकर यमुना ब्रिज चौंकी पर पहुँचे और चौंकी प्रभारी हरिओम त्यागी को मामले से अवगत कराया। हरियाणा में चुनाव होने के कारण कैराना कोतवाल राजेन्द्र कुमार नागर भी फ़ोर्स के संग यहां मौजूद थे। पुलिस ने गांव मवी निवासी जावेद नामक गोताखोर को मौके पर बुलाया और यमुना में डूबे किशोर की तलाश शुरू कर दी। घटना की सूचना पर किशोर के परिजन गांव के दर्जनों लोगो के साथ मौके पर पहुँचे।

हरियाणा के गोताखोरों को मौके पर बुलाया गया। गोताखोरों ने यमुना में जगह-जगह जाल व कांटा आदि डालकर डूबे किशोर का पता लगाने का प्रयास किया, लेकिन सांय छः बजे तक भी किशोर का कही पता नही चल पाया। यमुना में डूबा किशोर अपने पिता का इकलौता पुत्र बताया गया है और उसने इसी वर्ष ही दसवीं की परीक्षा पास की थी। किशोर की एक बहन भी बताई जा रही है।

 

पुलिस के लिए अवैध वसूली करते है गोताखोर

जिला प्रशासन द्वारा यमुना में नहाने आने वाले श्रद्धालुओं के लिए कोई गोताखोर तैनात नही किया गया है। बताया गया है कि कैराना पुलिस ने आसपास के गांव से तैरना जानने वाले दो तीन युवकों को यमुना ब्रिज पर रखा हुआ है। ये युवक यहां से गुजरने वाले मालवाहक वाहनों से पुलिस के लिए अवैध वसूली करते है। उसी कमाई में से इन गोताखोरों को थोड़ा बहुत खर्चा दे दिया जाता है। प्रशासन द्वारा यहां अधिकृत गोताखोर तैनात न होने की वजह से हर वर्ष दर्जनों लोगो को अपनी जान गंवानी पड़ती है।

 

 

 

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments