घायल पत्रकार उस्मान चौहान को मुजफ्फरनगर नगर जिला अस्पताल से मेरठ किया रेफर

घायल पत्रकार उस्मान चौहान को मुजफ्फरनगर नगर जिला अस्पताल से मेरठ किया रेफर
  • पत्रकार की आँख की रोशनी पर छाया संकट
  • आरोपियों को कोतवाल व कोतवाली पुलिस का संरक्षण

कैराना।

मुजफ्फरनगर जिला अस्पताल में उपचार हेतु भर्ती पत्रकार उस्मान चौहान की हालत चिंताजनक दिखाई देने पर चिकित्सकों ने उसे रेफर कर दिया।  पत्रकार की आँख की रोशनी पर छाया संकट। कोतवाली पुलिस द्वारा आरोपियों को खुली छूट दे रखी है। आरोपियो के खुलेआम घूमने से पत्रकार के परिजन दहशत में है।

 मुजफ्फरनगर से प्रकाशित एक दैनिक समाचार-पत्र के स्थानीय संवाददाता उस्मान चौहान पर नगर के दबंग भूमाफिया इंतज़ार उर्फ़ शब्बू ने अपने दो सगे भाइयों आसिफ व सोनू तथा दो-तीन अज्ञात गुर्गों के संग हमला कर गम्भीर रूप से घायल कर दिया था। घायल पत्रकार उस्मान चौहान मुजफ्फरनगर जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था।

चिकित्सकों ने पत्रकार की हालत चिंताजनक होने पर उसे मेरठ के लिये रेफर कर दिया। वही चिकित्सकों ने बताया कि पत्रकार की आँख की रोशनी पर संकट के बादल छाए है। आरोप है कि जब पीड़ित पत्रकार अपने साथियों संग कैराना कोतवाल राजेन्द्र नागर के पास शिकायत लेकर गया तो कोतवाल ने पत्रकारों की बात सुनने की बजाय उन्हें धमकाकर कोतवाली से भगा दिया।

यहीं नही, आरोपियों से सांठ-गांठ कर घायल पत्रकार के विरुद्ध ही मुकदमा दर्ज कर दिया। बाद में पीड़ित पत्रकार एसपी शामली अजय कुमार पाण्डेय के पास पहुँचे और उन्हें कैराना कोतवाल के कृत्य से अवगत कराया। एसपी के हस्तक्षेप पर पत्रकार के हमलावरों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज हुआ।

ज्ञापन में आरोप है कि कोतवाल हमलावरों को संरक्षण दे रहा है और घटना के चार दिन बीत जाने के बावजूद एक भी हमलावर को गिरफ्तार नही किया है। पत्रकारों ने मुख्यमन्त्री से नगर के पत्रकारों की सुरक्षा सुनिश्चित करने एवं कैराना कोतवाल राजेन्द्र कुमार नागर की संदिग्ध गतिविधियों की निष्पक्ष जाँच कराकर कड़ी कार्यवाही किये जाने की गुहार लगाई है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments