चेतावनी बिंदु को छू गया  यमुना का जलस्तर

 चेतावनी बिंदु को छू गया  यमुना का जलस्तर
  • यमुना  नदी के चेतावनी बिंदू पर बहनें से निकटवर्ती ग्रामीणों की बड़ी चिंता   
  •  पहाड़ी क्षेत्रों में वर्षा के चलते हथिनीकुंड बैराज से लगातार छोड़ा जा रहा पानी

वाज़िद अली कैराना  

कैराना। पहाड़ी क्षेत्रों में वर्षा के चलते कैराना में यमुना नदी भी उफान पर है। हथिनीकुंड बैराज से यमुना में लगातार पानी छोड़े जाने से सोमवार को जलस्तर चेतावनी बिंदु तक पहुंच गया। इससे तटवर्ती बाशिंदों की धड़कनें भी बढ़ने लगी है। जलस्तर बढ़ने पर प्रशासन अलर्ट दिखाई दिया।पहाड़ी क्षेत्रों में लगातार बारिश हो रही है। इसी के चलते हथिनीकुंड बैराज पर पानी का दबाव बढ़ने के कारण यमुना नदी में छोड़ा जा रहा है। रविवार  को सामान्य स्थिति में यमुना नदी का बहाव 229.40 मीटर पर था। इसके बाद रविवार को एकाएक जलस्तर में सवा मीटर से अधिक की बढोत्तरी हुई और पानी का बहाव चेतावनी बिंदु 230 मीटर पर पहुंच गया।

यमुना का जलस्तर बढ़ने और पानी का बहाव तेज देखते हुए प्रशासन ने क्षेत्र में अलर्ट जारी कर दिया। बाढ़ चौकियों को अलर्ट करने के साथ ही ग्रामीणों को भी सतर्क किया गया। वहीं, यमुना के चेतावनी बिंदु पर पहुंचने के कारण तटवर्ती गांवों के बाशिंदों की धड़कनें भी बढ़ने लगी। ये लोग बाढ़ के खतरे को लेकर चिंतित नजर आए। उधर, ड्रेनेज विभाग के अवर अभियंता आशीष त्यागी ने बताया कि रविवार को यमुना नदी में हथिनीकुंड बैराज से लगभग आठ लाख क्यूसेक पानी डिस्चार्ज किया गया है। कैराना यमुना नदी में 24 घंटों में पहुंचेगा। प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट दिखाई दे रहा है।

 

 तेज बहाव से होने लगा कटाव 

यमुना में पानी के बहाव की गति  तेज होने के कारण कटाव भी होने लगा है। यमुना का क्षेत्रफल लगातार फैल रहा है। इससे सबसे पहले किसानों को नुकसान की आशंका बनी हुई है, जिससे किसान भी चिंता से दोचार हैं। जलस्तर बढ़ने से यमुना खादर क्षेत्र में अलर्ट  घोषित कर दिया गया है। 

 

Comments