विधायक नाहिद हसन के घर पर नोटिस चस्पा, कराई मुनादी

विधायक नाहिद हसन के घर पर नोटिस चस्पा, कराई मुनादी

धोखाधड़ी के मामले में कोर्ट से मिला नोटिस, विधायक को पांच नवंबर तक का समय

कोर्ट में हाजिर न हुए तो पुलिस लगा सकती है कुर्की के लिए अर्जी

                   रिपोर्टर - वाज़िद अली

कैराना -

अधिकारियासें से उलझकर कानून के शिकंजे में फंसे सपा विधायक नाहिद हसन की मुश्किलें लगातार बढ़ती ही जा रही है। कोर्ट से गैर-जमानती वारंट जारी होने के बाद फरारी काट रहे विधायक की कुर्की की पुलिस तैयारी कर रही है।

इससे पहले पुलिस ने रविवार को विधायक के घर और चबूतरे पर कोर्ट से धोखाधड़ी के मामले में मिले सीआरपीसी की धारा 82 का नोटिस चस्पा किया है, जिसमें विधायक को कोर्ट में हाजिर होने के लिए एक माह का समय दिया गया है।

इस दौरान पुलिस ने बाजारों और गली-मोहल्ले में मुनादी कराते हुए विधायक को गिरफ्तार कराने में मदद करने की अपील भी की।

   रविवार दोपहर करीब 2.15 बजे कोतवाली प्रभारी निरीक्षक यशपाल धामा पुलिस और पीएसी के जवानों के साथ में सपा विधायक नाहिद हसन के आवास मोहल्ला आलदरम्यान में पहुंचे।

जहां पर पुलिस ने धोखाधड़ी के मामले में कोर्ट से मिले सीआरपीसी की धारा 82 के नोटिस को विधायक के घर और चबूतरे पर चस्पा किया।

इस दौरान पुलिस ने बाजारों, गली-मोहल्ले में ढोल बजवाकर मुनादी कराई और लाउडस्पीकर से एनाउंसमेंट कराकर जनता से विधायक को गिरफ्तार कराने में सहयोग करने की अपील भी की गई। यह भी कहा गया कि अभियुक्त नाहिद हसन की मौजूदगी के संबंध में कोई भी जानकारी दे सकता है, जिसका नाम गोपनीय रखा जाएगा।

वहीं, विधायक के आवास पर चस्पा किए गए नोटिस में उन्हें एक माह का समय दिया गया है। कोर्ट ने कहा है कि वह पांच नवंबर को प्रात: 11 बजे कोर्ट समक्ष उक्त परिवाद का उत्तर देने के लिए उपस्थित हों। इस दौरान मामले के विवेचक 

यह है मामला

17 जनवरी 2018 को कैराना निवासी मोहम्मद अली ने कोतवाली पर आईपीसी की धारा 420, 406, 379, 457, 380, 427, 352, 323, 504, 506 व 120बी के तहत मुकदमा दर्ज कराया था।

आरोप था कि सपा विधायक नाहिद हसन व उनकी मां पूर्व सांसद तबस्सुम हसन समेत आठ लोगों ने धोखे से 87 लाख 80 हजार रूपये लेने के बाद जमीन का बैनामा किसी दूसरे का नाम कर दिया गया और उसकी रकम भी नहीं दी गई। इस मामले में शनिवार को जिला एवं सत्र न्यायाधीश फास्ट ट्रैक कोर्ट ने पुलिस की अर्जी पर सुनवाई करते हुए धारा 82 का नोटिस जारी किया था।

पूर्व सांसद को मिली थी जमानत

धोखाधड़ी के इस मामले में दो दिन पहले सपा विधायक की मां एवं पूर्व सांसद तबस्सुम हसन को जिला एवं सत्र न्यायालय से अंतरिम जमानत मिल गई थी। जबकि विधायक नाहिद हसन की अंतरिम जमानत अर्जी खारिज कर दी गई थी।

चहलकदमी से छाया सन्नाटा 

कोतवाली कैराना में सुबह से ही पुलिस और पीएसी के जवानों की गाड़ियों की आवाजाही शुरू हो गई थी।

विधायक के घर पर धारा 82 के तहत कार्रवाई से पूर्व जिले से भारी पुलिस फोर्स कैराना बुलवा लिया गया था। इसके बाद भारी पुलिस बल के साथ अफसर विधायक के घर पर नोटिस चस्पा करने के लिए पहुंचे।

भारी फोर्स को देखकर बाजारों और गलियों में सन्नाटा गहराता हुआ नजर आया। इस दौरान पुलिस आसपास में लोगों को जमा नहीं होने दिया गया।

कुर्की के लिए पुलिस लगा सकती है अर्जी

विधायक नाहिद हसन को नोटिस में एक माह का समय दिया गया है। इस बीच वह कोर्ट में हाजिर हो सकते हैं। यदि विधायक कोर्ट में हाजिर नहीं होते हैं, तो फिर पुलिस कोर्ट में उनकी संपत्ति की कुर्की के लिए अर्जी भी लगा सकती है। पुलिस कुर्की की तैयारी भी कर रही है।

Comments