बिजलीघर में शराबी कर्मचारी का हाईवोल्टेज ड्रामा

बिजलीघर में शराबी कर्मचारी का हाईवोल्टेज ड्रामा
  • जेई ने कर्मचारी के खिलाफ दी तहरीर, पुलिस ने हिरासत में लिया

वाज़िद अली 

कैराना।  अंगूर की बेटी के नशे में चूर कर्मचारी ने बिजलीघर पर जमकर हाईवोल्टेज ड्रामा किया। विद्युत विभाग के अधिकारियों द्वारा मामले की सूचना पुलिस को दी गई, जिस पर पुलिस ने कर्मचारी को हिरासत में ले लिया है। मामले में कर्मचारी के खिलाफ जेई ने कोतवाली पर तहरीर दी है। पुलिस अग्रिम कार्रवाई में जुट गई है।

गुरूवार को नगर के शामली रोड पर स्थित बिजलीघर पर शराब के नशे में धुत कर्मचारी ने ड्यूटी के दौरान हाईवोल्टेज ड्रामा किया। मौके पर हंगामा खड़ा हो गया, जिसकी सूचना कर्मचारियों ने अधिकारियों को दी, जिस पर अधिकारी मौके पर पहुंचे तथा कर्मचारी को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वो हरकत से बाज नहीं आया। इसको लेकर विद्युत विभाग के अवर अभियंता राहुल कुमार ने कोतवाली कैराना पर कर्मचारी के खिलाफ तहरीर दे दी।

तहरीर में बताया गया कि गुरूवार सुबह करीब साढ़े 11 बजे बिजलीघर पर पहुंचे। जहां कंट्रोल रूम में एसएसओ सुधीर कुमार शराब के नशे में धुत होकर पड़ा हुआ था। कर्मचारी के शराब पीने के कारण सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न हो रही है। इतना ही नहीं, अप्रिय घटना घटित होने की भी आशंका बनी हुई है। जेई ने कर्मचारी का चिकित्सा परीक्षण कराकर कानूनी कार्रवाई की मांग की। इसके बाद पुलिस ने बिजलीघर से शराबी कर्मचारी को हिरासत में ले लिया तथा कोतवाली ले आई। पुलिस कर्मचारी का मेडिकल कराकर कार्रवाई में जुट गई है।

  • हादसे पर कौन होता जिम्मेदार ?
  • बिजलीघर में तैनात एसएसओ को सप्लाई सुचारू करने व बंद करने की महत्वूपर्ण जिम्मेदारी दी जाती है। यानि कि कहीं कोई हादसा होने अथवा शटडाउन लेने पर सप्लाई काटना होता है। लेकिन, इसके बावजूद भी लापरवाही किसी से छिपी नहीं रह गई है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि यदि लापरवाही के कारण कोई हादसा हुआ तो इसका जिम्मेदार कौन होगा ? यह सवाल अधिकारियों की कार्यप्रणाली को भी कटघरे में खड़ा करता हुआ नजर आ रहा है।
  • क्या होगी कार्रवाई ?
  • एसएसओ का ड्यूटी के दौरान हाईवोल्टेज ड्रामा होने के बाद विद्युत विभाग ने भी कार्रवाई का दम भरा है। अब देखना तो यह होगा मामले में क्या कार्रवाई की जाती है या फिर यूं ही खानापूर्ति की जाती है। यह तो आने वाला समय ही बताएगा

 

Comments