भूँखों को खाना खिलाकर गरीबों यतीमों की मदद करने का पैगाम दिया

भूँखों को खाना खिलाकर गरीबों यतीमों की मदद करने का पैगाम दिया

कानपुर ,

पैगम्बर ए इस्लाम हज़रत मोहम्मद मुस्तफा (स०अ०व०) की यौम ए विलादत माह का चाँद निकलने के साथ ही मोहम्मदी यूथ ग्रुप के प्रोग्रामों की कड़ी में भूँखों को खाना खिलाकर गरीब मज़लूमों यतीमों की मदद करने का संदेश दिया गया।

मोहम्मदी यूथ ग्रुप के पदाधिकारी  मेम्बर  नई सड़क छोटी ईदगाह के पास पहुंचे जहां पूरी दुनियां मे गरीबों, मज़लूमों की मदद करने, इंसानियत, मोहब्बत की सीख देने वाले मुख्तार ए कायनात हज़रत मोहम्मद मुस्तफा (स०अ०व०) की यौम ए विलादत(जन्मदिन) पर भूँखों को खाना खिलाकर इंसानियत की खिदमात करने के पैगाम को आम किया।

 ग्रुप के अध्यक्ष इखलाक अहमद डेविड ने कहा कि गरीबों, मज़लूमों, यतीमों व बेसहारों की मदद करें, अपने पड़ोसी का हक अदा करें, भूखों को खाना खिलाएं वह किसी भी मज़हब से ताल्लुक रखता हो, बुराईयों से दूर रहे, आपसी भाईचारा कायम करने के लिए अपने अख़लाक को बेहतर कर नबी की सुन्नतों पर अमल करना ही उनसे सच्ची मोहब्बत है। ग्रुप के मेम्बरों ने कानपुर की आवाम से अयोध्या फैसले के बाद एशिया के सबसें बड़े जुलूस ए मोहम्मदी मे ऐसा कोई भी नारा न लगाए जिससे किसी भी मज़हब की भावनाओं को ठेस पहुंचे, अमन भाईचारा, सदभाव बनाए रखने की अपील की। 

कार्यक्रम मे मुख्य रुप से इखलाक अहमद डेविड, मोहम्मद शाहिद, परवेज़ सिद्दीकी, अतीक अंसारी, हाजी जमील अहमद, अबरार अहमद, नूर आलम मौजूद थे।

 

Comments