फुटपाथ के अतिक्रमण की वजह से जाम के झाम से जूझने को जनता मजबूर,​​​​​​​नगर निगम अवैद्ध अतिक्रमण हटवाने में भी विफल-

फुटपाथ के अतिक्रमण की वजह से जाम के झाम से जूझने को जनता मजबूर,​​​​​​​नगर निगम अवैद्ध अतिक्रमण हटवाने में भी विफल-

लख़नऊ

गौरव बाजपेयी

इन दिनों राजधानी में  लगने वाले ट्रैफिक जाम जो कि राजधानी में सबसे बड़ी समस्या बनी हुई है है जिससे जनता लगातार घण्टो जूझ रही है जिसके लिए हमारे संवादाता गौरव बाजपेयी लगातार आपकी हर समस्या को जोर शोर से उठाते आये है।

इन आला अधिकारियों की मेहरबानी के चलते  ट्रैफिक जाम के झाम से बिल्कुल भी निजात मिलती नहीं दिख रही।

 जी हां हम बात कर रहे हैं राजधानी की जहाँ इन दिनों लख़नऊ के छोटे बड़े चौराहे,तिराहे सभी मकड़जाल की तरीके से जाम के झाम से जूझ रहै है लेकिन जिम्मेदार है कि  जो सड़क किनारे लगने वाले ठेलो, दुकानो से अतिक्रमण खत्म करने में अपनायाद अंकुश नहीं लगा पा रहे है।

 जिनकी वजह से राजधानी की जनता लगातार जाम के झाम से जूझने को मजबूर है घंटों के जाम से जूझते हुए कपूरथला मार्ग साई मंदिर के ओवरब्रिज पर नित्य ही घण्टो लोग किस तरीके से लाइनो में गाड़ियों की पंक्तियां बना खड़े रहने को मजबूर है जिसकव इस फोटो में देखने से स्पष्ट हो जाता है कि सिर्फ हम एक चौराहे की बात नहीं कर रहे हैं बल्कि पूरी राजधानी के समस्त छोटे से छोटे बड़े से बड़े सभी चौराहों गलियों को सभी जगह का आलम यही है कि  फुटपाथ पर लगने वाली दुकानों की वजह से काफी भयंकर ट्रैफिक जाम लग जाता है। 

जिसका खामियाजा भोग रहे लखनऊ वासियों को ऑफिस जाना हो या घर आने जिसमें काफी समय तक जाम के झाम से मसक्कत कर जूझना पड़ता है लेकिन जिससे कैसे भी निजाद  मिलती नही दिखाई देती।

सीतापुर रोड स्थित बिठौली क्रोसिंग, डॉलीगंज में क्रासिंग, हसनगंज थाने से तांगा स्टैंड तक लगने वाला भीषण जाम,पुरनिया तिराहा इन जगहों पर सिर्फ एक दिन नही बल्कि नित्य ही जाम का झांम रहता है जिसमे लोग घण्टो फसे रहते है और कोई जिम्मेदार झांकने तक नही आता कि जनता कितनी परेशान है जिसकी परेशानी की वजह फुटपाथ पर लगने वाली दुकानों ठेलो की वजह से जाम लगता है लेकिन नगर निगम के आला अधिकारियों को क्या जरूरत पड़ी है लोगो की तकलीफों की क्यों बिना मतलब की जहमत उठाये। 

Comments