बाल कवि सम्मेलन में 54 बच्चों ने पढ़ी स्वरचित कविताएं

बाल कवि सम्मेलन में 54 बच्चों ने पढ़ी स्वरचित कविताएं

उन्नाव

कविता साहित्य का प्राण होती है उन्नाव की धरती महान कवियों साहित्यकारों को अपने आंगन में आश्रय देती आई है। नई पीढ़ी को कविता विद्या के सर्जन में पारंगत करने के उद्देश्य से प्राथमिक स्तर से बच्चों को प्रशिक्षित करने की आवश्यकता है।


    यह विचार जनकदुलारे विद्या मंदिर इंटर कॉलेज ओसिया में आयोजित बाल कवि सम्मेलन में मुख्य अतिथि डॉ० श्रीकेश पाण्डेय ने व्यक्त किए। इस बाल कवि सम्मेलन में एनबीजीआई के 10 विद्यालयों के 54 बच्चों ने अपनी स्वरचित कविताएं प्रस्तुत की। इस बाल कवि सम्मेलन का विषय था ‘मेरा गांव मेरा तीर्थ।’ जेडीएम इंटर कॉलेज के प्रांगण में बनाए गए भव्य मंच से जब प्राथमिक से लेकर इंटर तक के बालक-बालिकाओं ने काव्य पाठ प्रारंभ किया तो पंडाल प्रत्येक कविता पर तालियों की गड़गड़ाहट से गुंजित होने लगा। इनकी काव्य रचनाओं का मूल्यांकन रायबरेली से पधारी कवयित्री मांडवी मिश्रा, सुरेश सिंह फक्कड़ और डॉ० श्रीकेश पाण्डेय ने किया। बाल कवि सम्मेलन में प्राथमिक वर्ग में भारतीय विद्यालय इंटर कॉलेज जोधाखेड़ा सफीपुर की कक्षा 5 की छात्रा आराध्या ने सर्वोत्कृष्ट स्थान प्राप्त किया। प्राथमिक वर्ग में ही ऋषिकुल विद्यापीठ पुरवा की दो छात्राओं श्रीजा और सौम्या ने उत्कृष्ट वर्ग में अपना स्थान सुनिश्चित किया। भारतीय विद्यालय की संतोषी भी इस वर्ग में द्वितीय स्थान पर रही। जबकि एसवीएम इंटर कॉलेज की वर्तिका सिंह आदर्श विद्या मंदिर के अनुराग सिंह और आदर्श शिशु मंदिर की

शाम्भवी गुप्ता ने विशिष्ट स्थान अर्जित किया। इन सभी को तीनों श्रेष्ठ कवियों के अतिरिक्त अर्चना भदौरिया वेणुरंजन भदौरिया और शिवांक रमन भदौरिया ने अर्चना जनसेवा न्यास की ओर से शील्ड तथा अन्य पुरस्कार प्रदान किए।

बाल कवि सम्मेलन की शोभा जूनियर व सीनियर वर्ग के शिक्षार्थियों ने अपनी काव्य रचनाओं के माध्यम से इतनी आकर्षक बनाई कि समस्त उपस्थित जनसमुदाय तालियां पीटते रह गया।

यह बाल कवि सम्मेलन ओसियां निवासी स्व० जनकदुलारे सिंह की 106वीं जयंती पर आयोजित किया गया। जूनियर वर्ग में देव शुक्ला ने सर्वोत्कृष्ट स्थान प्राप्त किया। वंश सिंह मुस्कान सोनी और अक्षरा सिंह उत्कृष्ट श्रेणी में अपना स्थान सुरक्षित किया जबकि विशिष्ट

श्रेणी में अंशिका द्विवेदी आदर्श मिश्रा और प्रीति यादव को सम्मानित किया गया। जेडीबीएम इंटर कॉलेज के प्रबंधक शिवांक रमन भदौरिया ने बताया कि बाल कवि सम्मेलन के सीनियर वर्ग में ऋषि कुल विद्यापीठ पुरवा की छात्रा नैना गौतम ने सर्वोत्कृष्ट स्थान प्राप्त किया जबकि इसी विद्यालय के सरल ने उत्कृष्ट स्थान अर्जित किया।

इसी वर्ग में जीडीबीएम के छात्रों आशुतोष शुक्ला और आकाश ने अपनी गरिमा पूर्ण उपस्थिति दर्ज करवाई। सीनियर वर्ग में ही एवीएम के 2 छात्रों आकांक्षा और ऋषि यादव ने उत्कृष्ट स्थान अर्जित किया जबकि एड्यूट्री वर्ल्ड स्कूल संत पूरनदास नगर की आर्यमा द्विवेदी ने उत्कृष्ट स्थान अर्जित किया।

समारोह के अंत में प्रधानाचार्य जयप्रकाश मिश्र ने सभी आगंतुकों अतिथियों और प्रतिभागी शिक्षार्थियों के प्रति आभार व्यक्त किया।
---

Comments