खाकी दागदार: पुलिस ने महिलाओं पर भांजी लाठियां

खाकी दागदार: पुलिस ने महिलाओं पर भांजी लाठियां

खाकी दागदार: पुलिस ने महिलाओं पर भांजी लाठियां
अहिरवार समाज के लोगो से परेशान होकर लोग पलायन करने को मजबूर
छेडख़ानी व मारपीट की धाराओं में मामला दर्ज कर की  इतिश्री


ललितपुर। vikash tripathi/ antim kumar jain

 

 

बिरधा चौकी क्षेत्र के एक गांव में दलित महिलाओं के साथ बदसलुकी कर छेडख़ानी कर मारपीट से परेशान वरार जाति के लोगों की शिकायत पर कोई कठोर कार्यवाही न होने से परेशान महिलाओं ने अपने परिजनों के साथ पलायन करने को मजबूर  हो गए। इस बात की शिकायत जिला प्रशासन से भी की गई, जब इसकी भनक पुलिस को लगी तो बिरधा चौकी पुलिस दल वल सहित पहुंच गई और उन्होंने पुरूष व महिलाओं पर लाठियां भांज दी। महिलाओं की सुरक्षा का दम भरने वाली पुलिस के द्वारा किये गए अत्याचार की क्षेत्र में काफी निंदा हो रही है।


गौरतलब है कि बिरधा क्षेत्र के एक गांव में विगत कई माह से अहिरवार व वरार जाति के लोगो के बीच बरचश्र्व की लड़ाई चल रही है। अहिरवार समाज के कुछ लोगो द्वारा वरार जाति महिलाओं को घर से खींच कर ले जाकर छेडख़ानी कर मारपीट की बारदातों को अंजाम दिया जा रहा था। पीडि़त वरार पक्ष के लोगो द्वारा स्थानीय पुलिस को कई बार शिकायती पत्र देने के बाद भी पुलिस ने कोई कठोर कार्यवाही करना मुनासिब नही समझा, जब पानी सर से ऊपर जाने लगा तो पुलिस ने वरार पक्ष के एक पीडि़त की तहरीर पर अहिरवार समाज के लोगो के खिलाफ मारपीट की धाराओं में रविवार शाम को मुकदमा दर्ज कर लिया। लेकिन अपनी शिथिलता को छुपाने के लिए बिरधा चौकी इंचार्ज

ने मामले  में छेडख़ानी की धारा को तरमीम कर इतिश्री कर ली। पुलिस की कार्यवाही से असंतुष्ट होकर सोमवार को आखिरकार वरार जाति की महिलाएं परिजनों के साथ जिलाधिकारी द्वारा लगाये जाने वाले जनता दरबार में जाकर न्याय की गुहार लगाने लगे। पुलिस की कार्यवाही से असंतुष्ट होकर आखिरकार वरार जाति के लोगो ने गांव से पलायन करने का फैसला कर लिया। जिला प्रशासन को की गई शिकायत की भनक लगते ही बिरधा चौकी पुलिस मौके पर पहुंच गई, जहां पुलिस ने महिला सुरक्षा को दरकिनार कर महिलाओं व उनके परिजनों पर लाठियां भांजना शुरू कर दिया। पुलिस के इस कृत्य को लेकर क्षेत्र में काफी रोष व्याप्त है। पूरे प्रकरण पर अधिकारी चुप्पी साधे हुए है। 

Comments