खनन उद्योग चालू करने को लेकर व्यवसायियों ने काली पट्टी बांध किया प्रदर्शन

खनन उद्योग चालू करने को लेकर व्यवसायियों ने काली पट्टी बांध किया प्रदर्शन
खनन उद्योग बन्दी से बिजली बिल व व्यावसायिक लोन या कर्ज अदायगी बना परेशानी का सबब
शासन प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराने हेतु काली पट्टी बांध प्रदर्शन कर लगाई गुहार
जनप्रतिनिधियों की खनन उद्योग के प्रति उदासीनता से व्यापारियों में भारी नाराजगी

ओबरा-

बिल्ली मारकुंडी खनन क्षेत्र का लगभग पूरा खनन उद्योग बन्द हो जाने को लेकर बन्दी से परेशान व्यवसायियों ने संगठित होकर शासन प्रशासन के समक्ष स्थायी समाधान की मांग की।उसी क्रम में शनिवार को ओबरा स्थित सुभाष तिराहे पर खनन व क्रेशर व्यवसायी लामबंद होकर शासन प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराने को लेकर

काला फीता बाँधकर प्रदर्शन कर जल्द व्यवसाय चालू कराने की मांग की।साथ ही सर्व सम्मति से खनन व क्रेशर चालू होने तक सभी खनन ब्यापारियों ने काला फीता बांधकर अपने प्रतिष्ठानों व आने जाने का निर्णय लिया।

प्रदर्शन के दौरान व्यापारियों को संबोधित करते हुए खनन व्यवसायी नंदलाल पांडेय व संतोष सिंह ने कहा की खनन उद्योग जनपद का सबसे प्रमुख उद्योग है।यह उद्योग डाला सीमेंट फैक्ट्री से भी बड़ा है।

इस उद्योग से प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से जिले के छोटे बड़े सभी व्यवसायी व मजदूर जुड़े हुए है।

खनन उद्योग बन्द होने से सभी लोग अपनी रोजी रोटी को लेकर परेशान है।लगातार बन्दी के दौरान क्रेशर पर बिजली बिल व कई व्यवसायियों द्वारा लोन व कर्ज लेकर व्यापार के दौरान बन्दी से कर्ज अदायगी करना लगभग असंभव हो गया है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार व जिला प्रशासन द्वारा ई टेंडरिंग प्रणाली लायी गयी है। परंतु आज तक प्रदेश सरकार व जिला प्रशासन द्वारा नए खनन पट्टो को प्रारंभ नही किया गया।

उन्होंने सभी क्रशर व्यवसायियो को खनन चालू कराने में सहयोग करने के लिए प्रेरित किया।वर्तमान समय मे सैकड़ो क्रेशर व दर्जनों खदाने बन्द होने की वजह से खनन व्यवसाय मरणासन्न की स्थिति में है।इस दौरान सभी ब्यवसायियो ने एक स्वर में में कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देशों का पालन किया जाएगा।

वही आवश्यकता पड़ने पर बड़ा आंदोलन कर शासन प्रशासन तक अपनी बात पहुचाने तथा यथा वस्तु स्थिति से मुख्यमंत्री को अवगत कराने पर भी जोर दिया गया।इस दौरान राजेन्द्र जिंदल, नवनीत अग्रवाल,राजेन्द्र गर्ग,संतोष राय,सूर्यनारायण अग्रहरि,सुशील गोयल,मुकेश बंसल,सुनील अग्रवाल,शिवशंकर अग्रहरि, विनीत त्रिपाठी,संजय केशरी, संजय कुमार, रवि प्रकाश, राहुल गोयल,इमरान खान,राजसुशील पासवान,रमेश यादव,अवधेश सिंह,प्रदीप अग्रहरि,अभिषेक जिंदल,राजेश जिंदल आदि खनन व क्रेशर व्यवसायी मौजूद रहे।

Loading...
Loading...

Comments