पोलिसिंग दुर्व्यवस्था में हुई दो युवकों की निर्मम हत्या

 पोलिसिंग दुर्व्यवस्था में हुई दो युवकों की निर्मम हत्या

 पोलिसिंग दुर्व्यवस्था में हुई दो युवकों की निर्मम हत्या

 कुशीनगर

खड्डा थाना क्षेत्र के बन्धू छपरा के एक युवक की निर्मम सिरकलम कर हत्या तो दूसरे साथी को गोली मारकर हत्या के बाद लोगों में चर्चा है कि यह घटना पुलिसिया कार्यवाही में हुई लापरवाही के कारण दोनोंं युवकोंं की जान चली गयी।अगर पुलिस अपने दायित्वों को लेकर संवेदनशील रही होती तो उक्त घटना घटित नही होती।इस घटना जिम्मेदार पूर्व इंसपेक्टर व वर्तमान प्रभारी निरीक्षक को क्षेत्र के लोग मान रहे है।


बता दें कि पुलिस की भाषा में डबल मर्डर की जड़ जमीनी रंजिश का कारण मान रही है।तो फिर पुलिस क्यो सोती रही।फिर भी पुलिस की ही बात सही है तो फिर इसकी जानकारी मृतक राजकुमार के पिता चन्द्रिका ने पहले से ही राजस्व व पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को दी थी।तब आलाअफसर क्या कर रहे थे।बावजूद आए दिन दोनो परिवार में बढती कटुता ने कभी मुर्गी फार्म में आग लगाने की आरोप में एक पक्ष दूसरे पक्ष पर मढ़ कर उत्पीडन करता रहा।

गौरतलब है कि वहीं राजकुमार मद्धेशिया पुत्र चन्द्रिका निवासी बंधूछपरा थाना खड्डा प्रथम वर्ष प्रशिक्षित संघ का कार्यकर्ता है। वहीं बंधूछपरा में इसके घर के बगल में अल्पसंख्यक समुदाय का घर है।उन्हीं से इसके पिता का जमीनी विवाद काफी लम्बे समय से चला आ रहा है। इसी विवाद को लेकर बीते वर्ष 26 दिसम्बर को राजकुमार व उसके पिता पर जानलेवा हमला कर मरणासन्न कर दिया गया था। राजकुमार की बहन के पर तेजाब फेंका गया था।

इसमें आरोपियों पर 308 का मुकदमा दर्ज हुआ था।आरोपी बाद में जेल से छुट गये थे।हद तो तब हो गयी जब 26 दिसम्बर 18 को दूसरे पक्ष ने चन्द्रिका व राजकुमार को धारदार हथियार से हमला कर गंभीर रुप कर दिया और उसके लडकी पर तेजाब फेंक दिया।ऐसे गंभीर  अपराध में तत्कालिन प्रभारी निरीक्षक अनुज सिंह ने साधारण ढंग से पाबन्द कर दिया। उपजिलाधिकारी न्यायालय में तेजाब फेकने वाले को जमानत मिल गयी।इस घटना को लेकर भाजपा के खण्ड मंडल अध्यक्ष धर्मेन्द्र राव ने पुलिसिंग दुर्व्यवस्था की कारगुजारी को पुलिस अधीक्षक कुशीनगर के पटल पर रखे फिर भी तेजाब व जानलेवा हमला कांड को गंभीर नही माना गया।इसके बाद पडरौना आए उपमुख्यमंत्री के समक्ष पार्टी पदाधिकारियों ने घटना को उठाया तब जाकर उक्त प्रभारी निरीक्षक स्थान्तरण हुआ।


प्रतिवादी इतने मनबढ़ और अपराधी प्रवृति के है कि बीते दिनों चन्द्रिका का 24 वर्षीय पुत्र की सिरकलम कर हत्या किये वही उसका साथी मजनू का 20 वर्षीय पुत्र इसराइल को अपनी पहचान छिपाने के लिए गोली मारकर नहर में फेंक दिए।लोग पुलिस को इस लिए कसूरवार मान रहे है कि समय रहते कार्यवाही की होती तो आज ये परिणाम नही होते।

Comments