कुशीनगर:विद्यालय की जांच में पहुचे अधिकारियों के सामने फुट-फुट कर रों पड़े स्कूल के बच्चें

कुशीनगर:विद्यालय की जांच में पहुचे अधिकारियों के सामने फुट-फुट कर रों पड़े स्कूल के बच्चें

कुशीनगर,उ.प्र।बिना मान्यता प्राप्त विद्यालय के खिलाफ कार्रवाई करने का आदेश शासन व प्रशासन के द्वारा त्वरित कार्रवाई कर बंद करने का आदेश दिया गया है। लेकिन शिक्षा विभाग के अधिकारी इस तरह के संचालित विद्यालयों के खिलाफ कार्रवाई करने पर स्कूल संचालक ही इन ब्लाक स्तरीय अधिकारियों के ऊपर भारी पड़ रहे हैं।जिसका नतीजा यह है कि विशुनपुरा ब्लॉक क्षेत्र मे अबैध रुप से संचालित शिक्षा माफिया बे रोक-टोक के अशिक्षित शिक्षको द्वारा संचालित कराया जा रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार विशुनपुरा विकास खंड के पिपरा बुजुर्ग गांव के बाबा टोला मे संचालित हो रहे पी०डी० चिलड्रेन पब्लिक स्कूल पिपरा बुजुर्ग जो विना मान्यता के इंटर मीडिएट तक की कक्षाओं का कई वर्षो से संचालित हो रहा है। 

बीएसए के आदेश पर त्वरित कार्रवाई करने हेतू बुधवार को विशुनपुरा खंड शिक्षा अधिकारी विशुनपुरा ने अबैध रुप से संचालित इंटर कालेज में पहुचे तो विद्यालय के टूटी-फुटी झोपडी मे कक्षाएं संचालित होती मिली और कोई प्रशिक्षित शिक्षक नही मिला ना ही विद्यालय के मान्यता से सम्बंधित कोई कागजात मिला।

 जिस पर खंड शिक्षाधिकारी ने अप्रशिक्षित शिक्षको व विद्यालयों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही। मौके पर मिले शिक्षको को बीईओ ने सख्त हिदायत दिया कि सुधर जाओ नही तो जेल जाओगे। इस तरह के विद्यालय संचालित करने वाले के खिलाफ भी किया जाएगा।

बीईओ के जांच मे फुट-फुट कर रो पड़े बच्चे

जनपद में बिना मान्यता के संचालित हो रहे पी०डी० चिलड्रेन पब्लिक स्कूल के जांच मे गए बीईओ के सामने छोटे-छोटे बच्चे फूट-फूट कर रोने लगे।सर हमारे स्कूल में पढ़ाई नहीं होती है। मासूमों ने बोला कि हमें पीटा जाता है। कमरो में घुसो से शिक्षक मारते हैं।बीईओ के सामने बच्चों के जुबान से निकली आवाज  से सर्व शिक्षा अभियान की धज्जियां उडती रही,लेकिन साहब विद्यालय के जिम्मेदारो के खिलाफ कार्रवाई करने की बात तो दूर बच्चों से बिना कुछ कहे ही कलाश से बाहर निकल गए। 

खंड शिक्षा अधिकारी द्वारा बच्चों को मारने वाले शिक्षको के खिलाफ कार्रवाई न करना भी इस तरह की संचालित विधालय और अप्रशिक्षित शिक्षको का हौसला बढ़ाने का काम करता है।बरहाल जो भी हो मानवतावादी दृष्टि से तो मासूम छात्रो को मारने वाले शिक्षक के खिलाफ बीईओ साहब को तो कार्रवाई कर ही देनी चाहिए।

क्या कहते हैं बीईओ

विशुनपुरा ब्लॉक के बीईओ एसएन प्रजापति का कहना है कि विद्यालय की जांच मे मान्यता सम्बंधित कागजात नही मिले है।कुछ बच्चे टूटी फुटी झोपड़ियों में पढ़ते मिलने के साथ ही तमाम कमियां मिली है।अमानक तरीके से संचालित द्यालय के खिलाफ कब कार्यवाही होगी ये भगवान भरोसे है।यहा तक कि शिक्षकों द्वारा मासूम बच्चों के मारने के सवाल पर बोलने से साहब हिचकने लगे।

Comments