​​​​​​​कुशीनगर:साहब की मेहरबानी से लाइनहाजिर रसूखदार चर्चित सिपहिया को मिल जा रही थानों की चाबी

​​​​​​​कुशीनगर:साहब की मेहरबानी से लाइनहाजिर रसूखदार चर्चित सिपहिया को मिल जा रही थानों की चाबी

कुशीनगर,उप्र।साहब के मेहरबानी से बार-बार कार्रवाई होने के बाद भी कांस्टेबलों को मिल जा रही है थानो में तैनाती।पशु तस्करी में लिप्त पाए जाने के बाद जहां एक ओर पुलिस अधीक्षक ने दो कांस्टेबलों को एक नही दो-दो बार कार्रवाई करते हुए लाइन हाजिर कर दिया था। 

पशुतस्करी में लिप्त पाएं जाने पर हो चुके हैं लाइन हाजिर

वहीं जिले के दो-दो थानो से दो बार लाइन हाजिर होने के बावजूद भी नेबुआ नौरगिया थाने में तैनाती मिल गई है। यह दोनो सिपाही ट्रकों से अवैध वसूली से लेकर पशु तस्करी में लिप्त पाये जाने पर पुलिस लाइन कर दिया गया था।पुलिस अधीक्षक की कार्रवाई के बाद भी सिपाही के रवैये पर कोई फर्क नहीं दिखता।

अपने को छोटे साहब बताते है सिपाही

मिली जानकारी के अनुसार नेबुआ नौरगिया थाने में दो चर्चित कॉन्स्टेबल तैनात हैं।जो डियूटी नही सिर्फ पूर्व थानाध्यक्ष के सिर्फ देख-रेख का कार्य करते थे।क्षेत्र के लोग उन्हे छोटे सरकार (साहब) के नाम से जनाते चले आ रहे हैं।जब फरियादी तहरीर ले थाने पहुचते थे तो बडे साहब के पहले छोटे साहब से मिलना जरूरी पड़ता था।नही तो कार्रवाई ठंडे बस्ते मे चला जाता था। 

सीओ ने रंगे हाथ पकड़ किया था लाइन हाजिर

उन दोनों कस्टेबलों में से एक कस्टेबल को पूर्व मे हाटा कोतवाली मे तैनाती थी। जिसको हाईवे पर पशुओं से लदी गाडियों से पैसा वसूली करते तत्कालीन सीओ ने रंगे हाथो पकडा था और निलंबित की कार्रवाई किया था व कसया थाने मे भी पशु तस्करी मे संलिप्त पाये जाने पर कार्रवाई करते हुये लाईन हाजिर किया गया था।दुसरे कस्टेबल को कसया व नेबुआ नौरगिया थाने में पशु में संलिप्त पाये जाने पर तत्कालीन थानाध्यक्ष ने कार्रवाही करते हुए लाइन हाजिर कराया था। तरया शराब कांड मे दोषी पाया गया है जो विभागीय मैनेजमेंट कर इतिश्री कर लिया।

सिपाही भरते है दम्भ

उसके अलावा एक और कांस्टेबल तैनात है जो सपा सरकार में मंत्री का रिस्तेदार बताता है जिसके ऊपर तरयासुजान थाने मे तत्कालीन थानाध्यक्ष निर्भय सिंह ने पशु में संलिप्त पाये जाने पर विभाग को रिपोर्ट किया था।यही तक नही जिस थाने पर दोनो कस्टेबल तैनात हैं उसी थाने से दो बार लाइन भी हो चुके है। उसके बाद भी उन्हे ये थाना साहब के मेहरबानी से पुन: मिल गया।दोनो कस्टेबलों का अपने स्टाफो मे कहना होता है की हम मंत्री जी के खास हैं ये सरकार जब तक रहेगी तब तक हमें कोई हटा नही सकता।

दोनो कस्टेबलों की अब तक हो चुकी है शिकायत

नेबुआ नौरगिया थाना में तैनात दो कांस्टेबलों का पहली शिकायत कुकुरहा गांव में युवक को जिंदा जलाने के मामले मे आरोपियों को पकड कर छोड़ दिया गया।जिसको लेकर थाना घेराव व सड़क जाम तक हुआ था।लेकिन कस्टेबलों के विरूद्ध कार्रवाई जीरो रहा।

दुष्कर्म और हत्या मामले की जद में बच गए सिपाही नप गए साहब

आलम मठिया गांव में एक युवक द्वारा 11 की छात्रा से बार बार छेडख़ानी करने के बाद घर मे घुसकर दुष्कर्म कर गला दबाकर मौत के घाट उतारने के मामले में आरोपी युवक को पकड 15 दिन हिरासत मे रखने के बाद पैसा ले उल्टे ही छात्रा की मां को ही मारपीटकर मुल्जिम बना जेल भेजने के साथ आरोपी युवक को छोड दिया गया।जिसकी शिकायत उच्च अधिकारियों से की गई।जिसमे कार्यवाही के जद से कांस्टेबल बच गए और तत्कालीन थानेदार नप गए।

Comments