जिला चिकित्सालय से नही समायोजित किये गए 35 कर्मचारी

जिला चिकित्सालय से नही समायोजित किये गए 35 कर्मचारी

   नौकरी छिनने की कगार पर है संविदा कर्मचारी 

 

फ़तेहपुर 

उत्तर प्रदेश सरकार में लगातार लोगों की नौकरी जाने का सिलसिला जारी है जहां अभी तक जिले के ही नहीं संपूर्ण प्रदेश के होमगार्ड के ऊपर नौकरी जाने की तलवार लटक रही थी आज वही तलवार जिला चिकित्सालय के संविदा कर्मियों के ऊपर भी लटकी है ।

    मामला प्रदेश के जिला चिकित्सालय में कार्यरत स्टाफ नर्स , ओटी टेक्नीशियन , एक्सरे टेक्नीशियन , लैब टेक्नीशियन,  ऑडियोमेट्रिक असिस्टेंट, फिजियोथैरेपिस्ट आदि सभी संविदा कर्मचारियों के ऊपर यह आदेश आ गया है कि अब उनका भुगतान शासन की तरफ से नहीं किया जाएगा जिसे साफ तौर पर समझ आता है कि इन लोगों को शासन की तरफ से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है । 

   जिला चिकित्सालय से इन लोगों से बातचीत की गई तो साफ तौर पर पता चला कि कर्मचारियों का बजट नवंबर 2019 से मार्च 2020 तक का आ चुका है परंतु कर्मचारियों को चयनित करने के लिए सीएमएस , सीएमओ ,डीपीएन और जिलाधिकारी के द्वारा समित बैठाकर शासन द्वारा चयन करने का प्रावधान रखा गया है

लेकिन आज 1 नवंबर हो जाने के बाद किसी तरह की कोई भी कार्यवाही की जानकारी इन संविदा कर्मचारियों को नहीं मिली है जिसके चलते इन कर्मचारियों के ऊपर लगातार अपनी नौकरी जाने का डर बना हुआ है अगर शासन की तरफ से इनको संपूर्ण जानकारी से अवगत करा दिया जाए और कब तक का मौका इनको दिया गया है इसकी जानकारी दे दी जाती तो इनको अपनी जिंदगी चलाना आसान होता लेकिन ना ही

इन्हें किसी प्रकार की नोटिस दी गई और ना ही किसी प्रकार की जानकारी अन्यथा इन्हें तुरंत ही अब बाहर कर दिया गया क्या होगा इन संविदा कर्मचारियों के घर वालों का जो इनकी नौकरी के भरोसे ही अपना जीवन यापन करते थे ।

 

Comments