कौन होगा समाजवादी पार्टी लखनऊ का अगला जिलाध्यक्ष

कौन होगा समाजवादी पार्टी लखनऊ का अगला जिलाध्यक्ष

दौड़ में चार नेताओं के नामों पर चर्चा,

निर्तमान जिलाध्यक्ष के प्रदेश में मिल सकती अहम जिम्मेदारी,

लखनऊ

समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल पार्टी के रास्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के अनुमोदन पर जल्द ही कर सकते हैं जिला व महानगर अध्यक्ष पदों की घोषणा।क्योंकि प्रदेश में राजधानी लखनऊ सहित अधिकांश जिला व नगर कमेटियां भंग चल रहीं हैं।पार्टी द्वारा बनाए जारहे कार्यक्रमों की घोषणा करने से पहले सभी संघटनो की घोषणा करना भी जरूरी होगा।ताकि पार्टी के कार्यक्रमों सफल बनाने के लिए जरूरी दिसा निर्देश दिए जा सकें।

इसी कड़ी में राजधानी लखनऊ में भी महानगर अध्यक्ष फ़क़ीर सिद्दीकी को हटा सुशील दीक्षित को नगर अध्यक्ष बनाए जाने के बाद से जिले की कुर्सी पर मुस्लिम समाज से बनाए जाने की चर्चा तेज हो गई है।हालांकि जब से समाजवादी पार्टी का गठन हुआ है तो एक बार को छोड़ कर लखनऊ में हर यादव समाज का ही जिलाध्यक्ष बनाया गया है।जिससे सपा में काम करने वाले अन्य वर्गों के लोग अपने को उपेक्षित महसूस कर रहें हैं।सूत्र बताते हैं कि वर्तमान में लखनऊ जनपद में जिलाध्यक्ष की दौड़ में निर्तमान जिलाध्यक्ष

अशोक यादव,केकेसी छात्र संघ के अध्यक्ष रहे और सपा राज्य कार्यकारणी सदस्य जय सिंह यादव जयंत,नगर के निर्तमान महासचिव चौधरी सौरभ सिंह यादव व मुस्लिम चेहरों में निर्तमान जिलाउपाध्यक्ष शब्बीर अहमद खान के नाम चर्चा में है।बताया जाता है कि यदि यादव वर्ग को छोड़ कर लखनऊ का जिलाध्यक्ष बनाया जाता है तो इसमें सबसे मजबूत दावेदार सरोजनीनगर विधानसभा क्षेत्र के चिल्लावां निवासी शब्बीर अहमद खान माने जा रहे हैं।शब्बीर के पास संगठन चलाने का भी पर्याप्त अनुभव बताया जाता है।

शब्बीर लगभग 12 वर्षों तक सरोजनीनगर विधानसभा क्षेत्र के अध्यक्ष रहने के अलावा दो बार लखनऊ जिले में उपाध्यक्ष के पद पर रह कर संगठन का काम करते रहे हैं।शब्बीर अहमद खान समाजवादी पार्टी की स्थापना से लेकर आज तक पार्टी के साथ ईमानदारी से संघर्स करने का इनाम मिल सकता है।वहीँ दूसरी ओर बताया जा रहा कि अगर हाईकमान ने यादव समाज से किसी को जिम्मेदारी देने का मन बनाता है तो इसमें छात्र नेता जय सिंह जयंत के साथ सौरभ चौधरी के नामों पर विचार कर रहा है।

सौरभ सपा के वरिष्ठ नेता राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य चौधरी जगदीप सिंह यादव के सुपुत्र हैं।जोकि सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के बहुत करीबी माने जाते हैं।वहीं जय सिंह जयंत सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के करीबी माने जाते हैं।वहीं पार्टी सूत्रों का कहना है कि निर्तमान जिलाध्यक्ष अशोक यादव को पार्टी प्रदेश संगठन में कोई अहम जिम्मेदारी देने के लिए विचार कर रही है।

Comments