कौशांबी की बेटी को न्याय दिलाने के लिए कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण ने खोल रखा है मोर्चा

कौशांबी की बेटी को न्याय दिलाने के लिए कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण ने खोल रखा है मोर्चा

कौशांबी की बेटी को न्याय दिलाने के लिए कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण ने खोल रखा है मोर्चा

खुद रख रखी है मामले की गंभीरता पर नजर

स्थानीय लोगों ने ऐसे घिनौने अपराध के लिए फांसी की सजा देने की मांग

कौशांबी /

कौशांबी की बेटी को न्याय दिलाने के लिए उत्तर प्रदेश की कर्मठ कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण ने पुलिसिया कार्रवाई से नाराजगी जताते हुए जिले के एसपी और डीएम से गुहार लगाई है की बाकी के फरार बलात्कारियों को भी जल्द से जल्द गिरफ्तार कर फांसी की सजा दिलवाई जाए तब जाकर समाज में इस तरह के कुकर्म करने वाले घिनौने अपराधियों से समाज को मुक्ति मिल पाएगी. जहां एक तरफ सरकार बेटी बचाओ – बेटी पढ़ाओ आदि का नारा देने का काम कर रही है l

तो दूसरी ओर इसके उलट समाज के कुछ घिनौने दरिंदों की वजह से बेटियों पर लगातार अत्याचार की बातें भी सामने आती दिखाई पड़ रही हैं। इसी क्रम में एक और नाबालिग बेटी के साथ दरिंदगी का मामला सामने आया जिसके न्याय के लिए कमल रानी वरुण ने मोर्चा खोल रखा है।

जनपद के सराय अकिल थाना क्षेत्र के घोसिया गांव के बाहर खेत की तरफ अकेली दलित युवती को किसी कार्य से जाते देख वहां पहले से मौजूद दरिंदो ने मानवता की सारी हदे पार करते हुए दलित युवती के ऊपर भूखे भेड़िए की तरह टूटते हुए गैंगरेप को अंजाम दिया था।

जिसके बाद स्थानीय लोगों और कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण के दबाव डालने पर थाना सरायअकिल क्षेत्रान्तर्गत ग्राम घोसिया में दलित नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार एवं उसका वीडियो बनाये जाने के सम्बन्ध में थाना सरायअकिल पर मु0अ0सं0-314/2019 धारा 376(2)(1), 376(D), 354(ग),506, 286 भा0द0वि0 व 3(2)(5), 3(1)(12) एससी-एसटी एक्ट,3/4 पाक्सो एक्ट व 7 सीएलए एक्ट पंजीकृत किया गया था । अभियोग का मुख्य अभियुक्त छोटका उर्फ आतंकवादी जो फरार चल रहा था एवं जिस पर ₹25000 का पुरस्कार घोषित किया गया था जो दिनांक 24.09.19 को एसओजी व विशेष गठित टीम द्वारा रावतपुर चौकी क्षेत्र में मुठभेड़ के पश्चात गिरफ्तार किया गया हैl 

आखिर क्या हुई मामले पर अभी तक कार्रवाई 

आरोपी युवक ने सरांय अकिल थाना क्षेत्र में बीते तीन दिनों पहले नाबालिग़ दलित किशोरी से गैंगरेप किया था। एसपी प्रदीप गुप्ता ने फरार आरोपियों पर 25-25 हजार का इनाम घोषित किया था। घटना में अभी फिलहाल आरोपित बड़का फरार चल रहा है। घायल आरोपी के पैरों में गोली लगने की सूचना पुलिस द्वारा मिल रही है।अभियुक्त के दोनों पैरों में गोली लगी है जिसे उपचार हेतु घायल अवस्था में जिला अस्पताल भेजा गया है l


 उत्तर प्रदेश के कौशाम्बी पुलिसिया कार्रवाई से नहींं है खुश वहां की आम जनता  :

  उन दरिंदो के आगे हाथ पैर जोडती रही लड़की लेकिन हवस के नशे में चूर दरिंदो को जरा सा भी तरस ना आई। ऐसे में आस-पास के खेतो में काम कर रहे लोगो के कानों तक जैसे ही युवती के चीखने की आवाज पहुची तो लोगो ने मदद के लिए दौड़ लगाई. तभी लोगो को अपनी ओर आते देख लड़की को छोड़ भागने लगे बाकी दरिंदे, भागने में सफल हुए लेकिन एक दरिंदे को लोगो ने दौड़ाकर पकड़ने में सफलता हासिल की और सराय अकिल थाना को सौप कड़ी से कड़ी कार्यवाही की मांग की।


जैसे ही रेप की घटना युवती के परिजन व ग्रामीण लोगो ने सुनी उनके होश उड़ गए और इस घटना से उग्र हुए लोग काफी मात्रा में एकत्रित होकर सराय अकिल थाना का घेराव कर मांग किया  कि भागे हुए अन्य सभी दरिंदों  को जल्द से जल्द पुलिस गिरफ्तार कर जेल की सलाखों के पीछे और सजा में मौत  दिलवाए.

इन दरिंदो को कड़ी से कड़ी सजा दी जाय ताकि भविष्य में किसी के साथ भी ऐसी घटना ना घटित हो और रेप से पीड़ित युवती को सही मायने में न्याय मिल सके। अब देखना यह जरूरी होगा कि ग्रामीण लोगो की चंगुल से बच निकले दरिंदे को कौशाम्बी पुलिस कितने दिनों के अंदर गिरफ्तार करने के साथ कोसांबी की बेटी को न्याय दिलाने में सफल होती है?

Comments