एक माह पूर्व हुई हत्या का हुआ खुलासा आरोपी गिरफ्तार

एक माह पूर्व हुई हत्या का हुआ खुलासा आरोपी गिरफ्तार

रामसनेहीघाट बाराबंकी।


रामसनेही घाट कोतवाली अंतर्गत एक माह पहले हुए बहुचर्चित अवनीश उर्फ पिंटू शुक्ला हत्याकांड का बहुप्रतीक्षित पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने सात लोगों को घटना में प्रयुक्त दो बाइकों एवं एक टाटा सफारी के साथ गिरफ्तार कर लिया है।पुलिस का दावा कर कि हत्या भाड़े के लोगों को डेढ़ लाख रूपये देकर कराई गयी है।


कोतवाली क्षेत्र अन्तर्गत ग्राम बीर उमरापुर निवासी अवनीश उर्फ पिंटू उम्र लगभ 25 वर्ष की हत्या गत 7-8 अक्टूबर की रात रहस्यमय ढंग से करके उसके शव को उसके गांव के निकट अमरगंज के निकट नहर के किनारे खेत में फेंक दिया गया था।मृतक पिंटू बैंक में दलाली के साथ ही ब्याज पर पैसा देने का काम करता था और क्षेत्र में लाखों रूपये का लेनदेन था।

घटना के दिन पिंटू घर से एक लाख अस्सी हजार रुपये लेकर आया था और नौ हजार रुपये उसने अपने मित्र से लिया था। उसे सांयकाल छः बजे अंतिम बार आरोपी आशुतोष मिश्र के पास देखा गया था। पुलिस के मुताबिक पिंटू को घटना के दिन आरोपी आशुतोष ने फोन करके बुलाया था और उसे घर भेजने के बहाने अपनी बाइक से ले गया था। रास्ते में बाइक सवार तीन लोगों ने टाटा सफारी के साथ बाइक से गिराकर उसकी हत्या गला दबाकर करके वहीं पर एक खेत में फेंक दिया गया था।

पुलिस के अनुसार मुख्य आरोपी आशुतोष ने मृतक से साढ़े चार लाख रूपये दस प्रतिशत मासिक ब्याज पर ले रखा था जिसका पैतालिस हजार रुपये ब्याज प्रतिमाह देना पड़ रहा था।मूलधन एवं ब्याज से बचने के लिए उसने पिंटू की हत्या कराने के लिए सबसे पहले आशियाना लखनऊ निवासी अपने मौसिया से बात की तो उन्होंने वहीं के रहने वाले जेपी मिश्र से उसकी मुलाकात करवाई तो उन्होंने अपने पेशेवर हत्यारों से उसकी बात करवा कर डेढ़ लाख में सौदा तय कराकर नब्बे हजार रुपये अग्रमि दिलाये थे।

सौदा तय होने के बाद हत्यारों द्वारा एक साथ म बात करने के लिए दी गई थी जिससे आशुतोष उन लोगों से बात करता था।पुलिस ने उस सिम को भी बरामद कर लिया है।पुलिस के अनुसार कल शनिवार को हत्यारे बाकी रकम लेने फोन करके सफारी से आये थे जिन्हें मोहम्मदपुर सिद्धौर मार्ग पर पिपरमिंट फैक्ट्री के पास से गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस का कहना है कि मौके पर पुलिस को देखकर आरोपियों द्वारा जान से मारने की नियत से फायर भी किया था। पुलिस ने आशुतोष सहित रायबरेली निवासी रामप्रकाश वर्मा, रणजीत, कमलेश, मनोजकुमार तथा आशियाना लखनऊ निवासी नवी हुसैन तथा दुर्गेश मिश्र को आवश्यक कार्यवाही करते हुये जेल भेज दिया।

Loading...
Loading...

Comments