प्रशासन का गणित फेल,भट्ठियों के इर्दगिर्द कही बंद दुकानों से बिक रही शराब

प्रशासन का गणित फेल,भट्ठियों के इर्दगिर्द कही बंद दुकानों से बिक रही शराब

जिला प्रशासन की गणित को शराब कारोबारी किये फेल बंद दुकानों से बेची जा रही शराब

 

कुशीनगर,उप्र।

 

जिला प्रशासन की चुनावी व्यवस्था में कहीं ना कहीं छेद है तभी तो प्रतिबंध के बावजूद भी बेची जा रही है दारू। लोकसभा चुनाव 2019 में कल यानी रविवार को होने वाले मतदान प्रक्रिया को शांतिपूर्ण और सौहार्द तरीके से सकुशल निपटारे को लेकर आला अधिकारी पूरी मुस्तैदी के साथ लगे हुए हैं।

 

 फिर भी आला अधिकारियों के फरमान को मातहत कितने संजीदगी से निभा रहे हैं।उसका एक प्रमाण शहर से लेकर गांव में सरकारी ठेके की भठ्ठी की शटर पर ताला लटकता हुआ नजर आ रहा है।

 

लेकिन शटर के दरवाजे पर नशे के लत में आदि ग्राहकों का हुजूम बंद शराब भट्ठी के द्वार पर भीड़ के शक्ल में खड़े होते नजर आ रहे है।वहीं बाहर से ताला और अंदर से शराब बेचते हुए भी मुनीम दिखाई दे रहे है।

 

जैसा कि चुनाव के मद्देनजर बीते शुक्रवार से जिला प्रशासन ने शराब बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया है। बावजूद यह देखा गया कि पडरौना नगर के जटहा रोड के चार नंबर भट्टी पर 7 बजे शाम को बंद पड़ी भट्ठी के शटर पर ग्राहकों की भीड़ लगी हुई थी। 

 

वहीं अंदर से प्रशासन की सख्ती दिखाकर 70 से ₹80 लेकर देसी शराब बेच जा रहा है। कुछ अवैध वसूली को लेकर नाराज हुए ग्राहक गुस्सा झाड़ते हुए दिखाई दिए।इसी वक्त हल्का दरोगा और एक सिपाही अपाची से पहुंचे। त्यों गेट पर खड़े ग्राहक रफू चक्कर  हो गए और साहब इधर उधर हाथ-पैर मारे लेकिन ढाक के तीन पात वाली कहावत साबित हुई।जहा से अपनी कर्तव्यों की पूर्ति कर साहब निकल पड़े।

 

यही हाल खिरकिया बाजार के जटहा रोड देसी विदेशी बियर ताड़ी की दुकानों का था।ताड़ी की दुकान का ताड़ी वान ताड़ी बेच रहा था।

 

हां जरूर ताड़ी बाग का ताड़ी वान यह बता रहा है कि चुनाव को लेकर पुलिस प्रशासन ताड़ी बेचने के लिए चुनाव तक रोक लगा दिया है।बावजूद अपने धंधा को चोखा किया हुआ है।

 

जनपद के जटहा बाजार मे आदेश का पालन करते हुए देशी-विदेशी और बियर की दुकान बंद रही फिर भी सड़कों पर मंडरा रहे ग्राहक देशी-विदेशी बियर पीने वाले ऊंची दामों में खरीद रहे है।जरूरत मंदो की आपूर्ति सड़कों पर उन्हें सुविधाएं मुहैया हो जा रही है।

 

शायद प्रशासन के लिए यह कहना चुनौती बनेगा  कि चुनाव में आला अधिकारियों की फरमान में कहीं ना कहीं उनके मातहतों में चूक है।इस लिए प्रतिबंध के बावजूद मादक द्रव्यों की बिक्री में कोई कमी नजर नहीं आ रही है।

 

जब अवैध शराब बिक्री के संबंध में जिला आबकारी अधिकारी से व्यवस्थाओं की चूक के संबंध में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि पूरी सख्ती के साथ मदिरा की दुकानें बंद करवा दी गई है।

 

 हां जहां से भी शिकायत मिल रही है वहां अपनी टीम भिजवा कर सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि अवैध शराब भी कहीं कोई बेचने नहीं पाएगा। जो भी बेचते हुए पाया जाएगा उससे सख्ती से निपटा जाएगा।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments