दबंग कोटेदार डकार रहा गरीबों का राशन पताई,भूखें फरियादियों का जिलाप्रशासन पर कोई असर नही

दबंग कोटेदार डकार रहा गरीबों का राशन पताई,भूखें फरियादियों का जिलाप्रशासन पर कोई असर नही

कुशीनगर,उप्र।

  • -कोटेदार के विरुद्ध मुख्यमंत्री और डीएम को सौंपा शिकायती पत्र सौंप की किये जांच मांग
  • -ग्रामप्रधान प्रतिनिधि की बात पर आगबबूला हो जा रहा कोटेदार

जनपद कुशीनगर के विकास खण्ड विशुनपुरा अन्तर्गत माघी कोठिलवा गांव का यह मामला प्रकाश में आया है।ग्रामीणों द्वारा बताया जा रहा है कि गांव का दबंग और उदंड कोटेदार की मनमानी से गांव की गरीबों को भूखों मरने के लिए विवश किया जा रहा है। ग्रामीणों का आरोप है कि कोटेदार द्वारा घटतौली व निर्धारित मूल्य से अधिक में वितरण करने तथा पर्ची कटने के बाद भी राशन न देने से इंकार कर देता है। कोटेदार से तंग होकर ग्रामीण महिला एवं पुरुष उपभोक्ताओं ने जिलाधिकारी कुशीनगर को शिकायती पत्र सौंप कर अपने हक को दिलवाने के साथ उदंड और दबंग कोटेदार  के विरुद्ध  जांच कर  कोटा  सस्पेंड करने की मांग की है।

 

कोटेदार के खिलाफ अधिकारियों से शिकायत के 20 दिन बाद भी नही मिला न्याय

 

उक्त ग्राम सभा के रहने वाले उपभोक्ता रंगलाल चौहान ने 3 अप्रैल 2019 को जिलाधिकारी कुशीनगर को सौंपे 190 उपभोक्ताओं की हस्ताक्षर वाली शिकायती पत्र में कहा है कि स्थानीय कोटेदार अमर द्वारा प्रत्येक माह में किया जाने वाला राशन वितरण में मनमानी रूप से घटतौली कर निर्धारित मूल्य दो व तीन रुपयों प्रति किलो के दर की बजाय ढ़ाई से साढ़े तीन रुपये लेकर राशन का वितरण किया जाता है । इसके अलावे प्रति यूनिट पांच किलो की जगह गेंहू व चावल का वजन मात्र साढ़े तीन व चार किलो के ही अनुपात से वितरण किया जाता है। जबकि घटतौली व अधिक मूल्य लिये जाने के बाबत पूछे जाने पर दबंग कोटेदार अमर रिजन ग्राहकों के अभद्र व्यवहार के साथ पेश होता है।पीड़ित  उपभोक्ताओं ने 190 लोगों की हस्ताक्षर व निशानी अंगूठा पत्र के माध्यम  से बताया है कि वर्तमान माह के वितरण में उपभोक्ताओं का मशीन से अँगूठा लेकर मशीन से निकलने वाली पर्ची को अपने पास रख लेता है और बाद में राशन ले जाने की बात कह कर राशन उन तिथियों पर नहीं देता है।जालसाजी के तहत अनेकों उपभोक्ताओं का अंगूठा लगवाकर कहता है कि अंगूठा मशीन नहीं ले पा रहा है।बहरहाल उक्त गांव के उपभोक्ता स्थानीय कोटेदार की मनमानी वितरण से काफी त्रस्त व परेशान हैं।

 

आठ पुरवे के गरीब ग्रामीण भुखमरी के कगार पर

 

 कोटेदार के यहा लगभग आठ टोले क्रमशः ध्रुप सिंह का टोला, भरटोली, मुर्गहवा बड़ा टोला तथा छोटा टोला, धुमनगर, बखरियहवाँ, बलुआ टोला आंशिक के रहने वाले उपभोक्ताओं को तीन किलोमीटर की दूरी तय करके उक्त कोटेदार के यहाँ राशन लेने आना पड़ता है।

 

असहाय बने उपभोक्ताओं ने डीएम को सौपा पत्र

 

जिलाधिकारी कुशीनगर को कोटेदार के विरुद्ध पत्र सौंपने वाले उपभोक्ताओं में विजय चौहान, लाल पहाड़ी,अरविन्द, नन्दकिशोर,राधेश्याम,प्रेमजोतिया देवी,सियराजी देवी,मु चम्पा, रीता देवी, सम्पतिया देवी, सुनीता देवी, लालती देवी, कुसुमावती देवी,

देवेन्द्र पाण्डेय,राजेश चौहान ,भुवली देवी इत्यादि ने कोटेदार की मनमानी वितरण करने की जाँच कर कार्यवाही करने हेतु उप जिलाधिकारी सदर पडरौना, जिला पूर्ति अधिकारी कुशीनगर,खण्ड विकास अधिकारी विशुनपुरा के अतिरिक्त मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश के नाम शिकायती पत्र की प्रतिलिपि जरिये डाक द्वारा उपभोक्ताओं ने प्रेषित कर कार्यवाही किये जाने की है।

इस सम्बंध में जानकारी लेने के लिए जिलापूर्ति अधिकारी का नंबर इनवैलिड बता रहा था।तदोपरांत सप्लाई इंस्पेक्टर रत्नेश मिश्रा से पूछने पर बताये कि मैं दस दिनों से छुट्टी पर था।आज आया हूं।अभी हमे ग्रामीणों द्वारा शिकायती पत्र नही मिला है।जानकारी करूंगा और कोटेदार की जांचोपरांत दोषी कोटेदार के विरुद्ध कार्यवाही भी करूंगा।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments