विद्युत विभाग की मनमानी से सौभाग्य योजना की विजली ग्रामीणों के लिए बनी दुर्भाग्य

विद्युत विभाग की मनमानी से सौभाग्य योजना की विजली ग्रामीणों के लिए बनी दुर्भाग्य

कुशीनगर,उप्र।

विशुनपुरा ब्लॉक अंतर्गत पिपरा बुजुर्ग गांव में विजली लग कर तैयार है पर घरेलू कनेक्सन पाने की आस में उपभोक्ता ताकझांक में लगे हुए है।ग्रामीणों का कहना है कि गांव में  विजली फरवरी में 120 पोल और 5 ट्रांसफार्मर जिसमें 16 केबी 3 ट्रांसफॉमर्स,25 केवी दो ट्रांसफार्मर लगे हुए हैं।धारावी तार भी महीनों दिन पहले लग गए हैं।अब सिर्फ  11हजार में तार जोड़ना है। 

उसके बावजूद भी अधिकारी और कर्मचारी इस बात पर ध्यान नहीं दे रहा है।लाइट कनेक्शन ले चुके बृजेश,महेंदर,गीता,भगवानी, राम अवतार,गोविंद ऐसे दस लोग हैं। जिनका अभी तक कनेक्सन नही जोड़ा गया। विजली उपभोक्ताओं ने कहा जो तार फ्री में आता है उसकी कीमत चुकाने के बावजूद महीनों से यह पूछ रहे हैं कब तक लाइट चालू होगी। उपभोक्ताओं ने बताया कि सिर्फ इतना काम है कि 11हजार में जोड़ देना है।

जो काम विजली विभाग के अधिकारी नही कर पा रहे है। विदित हो कि सौभाग्य योजना के अंतर्गत पिपरा बाजार में मेन चौराहा,मेन बाजार,मुसलमान पट्टी, बाबा टोला,बरवा पट्टी में विजली की जाल बिछाकर छोड़ चले गए है। जिसको लेकर  ग्रामीण जनता परेशान है। क्षेत्र पंचायत सदस्य पिपरा बाजार महेश रौनियार ने बताया कि एक्सईएन गोरखपुर ओर कोटवा जेई को सूचना दिया जा रहा है।उसके साथ कारदाई संस्था के अमित को सूचना दिया गया। 

उसके बावजूद भी लाइट चालू नहीं हो पाया। पुराने लगे तार भी जर्जर और ढीला ढाला हालत में चरमरा गया है।जिसकी आज तक मरम्मत तक नही हुई।ढ़ाई सौ केवी का ट्रांसफॉमर्स होने के बावजूद भी हर तीन दिन के बाद मेन रोड पर तार टूट कर गिर जाता है। जिसमें ग्रामीण जनता को बहुत परेशानी होती है।ग्रामीणों ने विजली विभाग से कहा कि सौभाग्य योजना के अंतर्गत जो लाइट लगी हुई है। वह चालू हो जाए तो वह तार टूट कर नहीं गिरेंगे। ग्रामीण जनता ने मांग किया है कि अति शीघ्र विद्युत आपूर्ति व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाय।

विजली दुर्व्यवस्था से तंग ग्रामीण

मुन्ना राय,लालचंद यादव, नन्दलाल कुशवाहा, रामबेलास शर्मा, नन्हे जायसवाल,मुन्ना अग्रहरी,जितेंद्र रौनियार,भगवानी देवी,रामाधार गुप्ता, गोविंद गुप्ता,महेंद्र कुशवाहा,बृजेश रौनियार,तबारक अंसारी, अब्दुल लतीफ आदि ग्रमीणों ने अविलंब विद्युत व्यवस्था संचालित करने की मांग किया है।

 

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments