बीमार बेटी बोली जिंदा रहकर मां की सेवा करना चाहती हूं,कोई करवा दे मेरी ईलाज

बीमार बेटी बोली जिंदा रहकर मां की सेवा करना चाहती हूं,कोई करवा दे मेरी ईलाज

बचपन में ही सर से उठ गया बाप का साया

            रिपोर्टर - शैलेश यदुवंशी

खड्डा,कुशीनगर-

सरकार द्वारा तमाम कल्याणकारी योजनाएं चलाए जाने के बाद भी सरकारी मिशनरी की दुर्व्यवस्था का टोटका खत्म होने का नाम नही ले रहा है जहां ईलाज के लिए अब मासूम जिंदगी भी जीवन की भीख मांगने पर मजबूर हो उठे है।

खड्डा ब्लाक के नरकहवा गांव के छोटका टोला निवासी 13 वर्षीय रीना पुत्री स्वर्गीय लालू चौहान गंभीर बीमारी से ग्रस्त है जो इलाज के अभाव में दम तोड़ती नजर आ रही हैं।

क्योंकि उसके सिर पर उसके बाप का हाथ नहीं है। जब छोटी थी तभी उसके बाप की मृत्यु हो गई। उसकी मां कौलासी देवी पालती पोसती है।उसका बड़ा भाई अलग रहता है।

बकौल रीना मरना नहीं चाहती उसकी इच्छा है कि बड़ी होकर अपनी मां की सेवा करना चाहती है। सरकार से अपील कर रही है कि बेटी पढ़ाओ तथा बेटी बचाओ या आयुष्यमान भारत जैसे योजना बनवा कर सरकार उसकी सहायता कर सकती है।रीना 6 माह से बीमार है।लेकिन इतने दिन में उसे कोई देखने तक नहीं आते हैं।

जीवन से थकी बेटी रीना अब पत्रकारों से अपील की है कि कृपया मेरी आवाज जिला प्रशासन या विधायक जी तथा सरकार तक पहुंचा दे।ताकि मेरी जान बच जाए मेरी मां के अलावा इस दुनिया में कोई नहीं है।रीना का इस समय इलाज न्यू पीएचसी में चल रहा है लेकिन उसे अच्छी इलाज के लिए किसी अच्छे अस्पताल ले जाने की आवश्यकता है।

Comments