गावो में गंदगी से बजबजा रही नालियों मच्छर डेंगू जैसी प्राण घातक बीमारी फैल जाने की आशंका

गावो में गंदगी से बजबजा रही नालियों मच्छर डेंगू जैसी प्राण घातक बीमारी फैल जाने की आशंका

नरेश कुमार गुप्ता

गावो में गंदगी से बजबजा रही नालियों मच्छर डेंगू जैसी प्राण घातक बीमारी फैल जाने की आशंका

राजेश मिश्रा मोहन लाल गंज लखनऊ 

 केंद्र सरकार से लेकर राज्य सरकार तक स्वच्छ भारत सुंदर भारत बनाने के उद्देश्य से दिन रात मेहनत कर व स्वस्च्छ्ता अभियान चला कर जनजन को इस मुहिम में शामिल हो इसे सार्थक बनाने के लिए प्रयास रत है  


वही दूसरी ओर विकास खण्ड मोहन लाल गंज में लगने वाली सात दर्जन पंचायतो व उनके मजरों की हालत साफ सफाई न होने के कारण बद से भी बदतर होती चली जा रही है महीनों से गावो में सफाई कर्मी नही पहुच रहे है  जिससे गांवो में बनी नालिया गंदगी से बजबजा रही है और नापदानो का पानी सड़को के ऊपर से बह रहा है वही नालियों के ऊपर झाड़ झंखाड़ उग कर बड़े बड़े खड़े है जो स्वच्छता अभियान की पोल पट्टी खोल रहे है

वही दूसरी ओर  नालियों में भरा गंदा दूषित बदबूदार पानी जिसमे अनेको प्रजाति के मच्छर पनप रहे है और उनके लार्वा भी वही दूसरी ओर अबकी बार गांवो की नालियों में एण्टीलार्वा का छिड़काव भी नही हो पाया है जिससे गांवो में मच्छरों की तादात में भारी बढोत्तरी हो चुकी है वही पिछले साल मोहन लाल गंज के गांवो में डेंगू जैसी प्राणघातक महामारी ने अपने पैर पसार लिए थे  जिंदगी मौत की जंग लड़ते लड़ते आखिर जिंदगी से हार गए थे

ये बात क्षेत्रीय ग्रामीणों ने बताई वही दूसरी ओर विकास खण्ड मोहन लाल गंज में तैनात  जिम्मेदारो ने अब तक गांवो में गंदगी से पटी पड़ी नालियों की साफ सफाई  कराना तो दूर की बात अब तक उनमे पल रहे एन्टी लार्वा  व उनसे उपज रहे मच्छरों पर रोक लगाने के लिए एण्टी लार्वा का छिड़काव तक नही कराया गया जिससे सात दर्जन पंचायतो के ग्रामीणों में खण्ड विकास कार्यालय में तैनात अधिकारियों की उदासीनता को लेकर रोष बना हुआ है

और करीब महीने भर बाद बारिश भी शुरू हो जाएगी और नालिया चोक है गंदगी से पटी पड़ी है जिनमे कीड़े तक पड़ गए है और गांवो में बने नाले व नालिया गंदगी से बजबजा रहे है जिससे ग्रामीणों को आशंका है कि कही गांवो में कोई महामारी या डेंगू जैसी प्राण घातक बीमारी न फैल जाए वही दूसरी ओर ग्रामीणों ने  जिम्मेदारों से दर्जनों बार गांवो में सफाईकर्मी न आने की शिकायतें की लेकिन उनकी शिकायते ठंढे बस्ते में डाल दी गयी

हाल ये ही कि शायद ही किसी गांव में सफाई कर्मी पहुच रहे हो  वही अतरौली हुलासखेड़ा  कनकहा सिसेंडी परसपुर  गोविंदपुर हिलगी निगोहां  समेसी जबरौली सहित कोई भी ग्राम पंचायत शायद ही हो जहाँ सफाईकर्मी पहुच रहे हो ग्रामीणों का मानना है कि आखिर ये सब गए कहा  कागजो पर तो सब है और सेलरी भी उठा रहे है तो फिर प्रशाशन इन पर मेहबान क्यो है और ये गांवो में पहुचकर साफ सफाई क्यो नही कर रहे है आखिर वजह क्या है क्यो जिम्मेदार मेहबान है सफाईकर्मियों पर इस तरह के तमाम सवाल ग्रामीणों के जहन में उठ रहे है और वही ग्रामीणों व मजरों के निवासियों ने बताया की पिछले चार वर्षों से सिर्फ कागजो पर सफाई कर्मी तैनात है और गांव कभी नही आया

तो फिर सरकार उसे वेतन किस बात का दे रही है वही ग्रामीण जनता ने बताया की भैया लगता है वीडियो साहब पर मेहरबान है तबही तो ई सब गांव नही आवत है और कलेक्टर साहब भी उनका कुछ नही कहत है जहिके चलते उन सबके भाव बहुतय बढ़े है और अभी दुई चारि का निकालि दींन जाये बाकी सब अपने आप सही होई जैहै ये आरोप ग्रामीणों ने जिम्मेदारो के ऊपर लगाए है और ये भी बात कही की प्रशानिक अधिकारियों की उदासीनता  के चलते गांवो में बनी सरकारी नालिया गंदगी से बजबजा रही है

जिनमे तरह तरह के मच्छर पनप रहे है जिनसे ग्रमीणों को चिंता सता रही है कि कही उनके गांवो में डेंगू  न पाव पसार ले वही क्षेत्र  की जनता के मुताबिक सफाई कर्मी किसी किसी गांव में पहुचते भी है तो प्रधानों के घरों के आसपास व  स्कूलों की साफ सफाई करके चलते बनते है और कई ग्रामीणों ने खण्ड विकास अधिकारी भोलानाथ कनौजिया से मिलकर भी इस मुद्दे पर बात की तो उन्होंने बताया कि मामला संज्ञान में आया है चुनाव में उंन सबकी ड्यूटी लगी थी  और जल्द ही उन्हें उनके कामो पर भेज गांवो की साफ सफाई करवा दी जाएगी

 

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments