गाजे-बाजे के साथ की गई लक्ष्मी गणेश की प्रतिमा का विसर्जन

गाजे-बाजे के साथ की गई लक्ष्मी गणेश की प्रतिमा का विसर्जन

मसकनवा,गोण्डा- 

मसकनवा शहर तथा ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित की गयीं लक्ष्मी गणेश की प्रतिमाओं को गाजे-बाजे और अबीर गुलाल के साथ सिंगारघाट,पर विसुही नदी में विसर्जित कर दी गयीं।

नगर में स्थापित की गयी लक्ष्मी गणेश की प्रतिमाओं को भोपत पुर, हथियागढ़ चमरूपुर, जालेपुर,भानपुर, दौलतपुर की प्रतिमाएं श्रृंगार घाट में विसर्जित की गई। वहीं अयोध्या से आए कलाकारों ने बैंड बाजों की धुनों मां की झांकी, व राधा कृष्ण की झांकी, शंकर पार्वती की झांकी, निकाल कर लोगों का मन मोह लिया।

पर नाचते गाते श्रद्धालु पूरे नगर व गांव में माता लक्ष्मी व गणेश  के जयकारे लगाते रहे। शोभा यात्रा में शामिल लोगों के लिए तमाम श्रद्धालुओं द्वारा अपने आवासों या दुकानों के सामने प्रसाद वितरित करने की व्यवस्था की गयी थी। शोभायात्रा के साथ चल रहे वाहनों से भी लगातार प्रसाद का वितरण किया जाता रहा। प्रतिमाओं की आरती करने के पश्चात प्रतिमाओं को नदी में विसर्जित कर दिया गया।

नगर सहित आसपास के अन्य तमाम गांवों की प्रतिमाओं का विसर्जन भी बुधवार को किया गया जबकि कुछ अन्य स्थानों की प्रतिमाओं का विसर्जन मंगलवार की शाम को ही कर दिया गया था। शोभायात्रा में मनीष कुमार पांडे ग्राम प्रधान हथियागढ़ गवर्नर गुप्ता अखिलेश गुप्ता अमित विश्वकर्मा , अजीत कुमार शर्मा आदि सहित भारी संख्या में लोग मौजूद रहे। सुरक्षा व्यवस्था के लिए पर्याप्त पुलिस बल तैनात किया गया था।

Comments