असलहा फैक्टरी संचालित करते एक गिरफ्तार, एक फरार

 असलहा फैक्टरी संचालित करते एक गिरफ्तार, एक फरार

 

असलहा फैक्टरी संचालित करते एक गिरफ्तार, एक फरार

क्षेत्र में संचालित हो रहे अवैध कारोबार की, थाना व चौकी प्रभारी को नहीं थी खबर

एसपी ने स्वॉट टीम की ठोकी पीठ, लापरवाही पर नहीं दी क्षेत्र इंजार्च को सजा

ललितपुर।Ravi shankar sen

पुलिस ने बुधवार को जनपद में संचालित हो रही एक और असहला फैक्टरी केा पकड़ा। स्वॉट टीम द्वारा यह कार्यवाही बतायी जा रही है। पुलिस अधीक्षक ने खुलासे में लगी, टीम की तो सराहना की है, किन्तु जिस थाना क्षेत्र में ख्ुालेआम असलहा बनाये जा रहे थे, उसके खिलाफ कोई भी कार्यवाही अमल में नहीं लायी गयी है। पुलिस द्वारा दूसरी असहला फैक्टरी पकडऩे का दावा है, बताते चलें कि इससे पूर्व जनपद को शांन्ति प्रिय माना जाता था।

अधिकाँश मामले जमीन जायदाद के विवाद को लेकर सामने आते थे। ऐसे में लगातार असहला फैक्टरियों के खुलासे होने से पुलिस को ही नहीं यहाँ की शान्ति प्रिय जनता के लिए चिन्ता का विषय है। हालाँकि पुलिस अधीक्षक द्वारा अभी तक संबन्धित क्षेत्र प्रभारी के खिलाफ कार्यवाही के निर्देश नहीं दिये गये। अगर ऐसा नहीं हुआ तो अपराधों को बढ़ावा मिलेगा, चूँकि जनपद में एक ही स्वॉट टीम वह सभी जगह कैसे नजर रख पायेगी। 

पुलिस लाइन सभागार में मामले का खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक कैप्टन मिर्जा मंजर बेग ने बताया कि  लोकसभा चुनाव के मद्देनजर जनपद में अपराधियों के खिलाफ सख्ती से अभियान चलाया जा रहा है। इसी के तहत सुबह करीब छह बजे मुखबिर ने स्वाट टीम प्रभारी अन वर अहमद को सूचना दी कि बांसी चौकी क्षेत्र स्थित नंदीपुरा गांव के समीप नाले के किनारे खाई में असलाह बनाने की अवैध फैक्ट्री संचालित हो रही है।

सूचना मिलते ही स्वाट टीम प्रभारी ने इसकी जानकारी जखौरा थानाध्यक्ष बृषभान सिंह व बांसी चौकी प्रभारी कृष्णपाल सरोज को दी। सभी टीमें मुखबिर के बताए स्थान पर पहुंचकर घेराबंदी कर दी। जैसे ही पुलिस उस फैक्ट्री के पास पहुंची तो वहां मौजूद बदमाशों ने पुलिस ने फायंरिंग कर दी और भागने का प्रयास करने लगे। पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया,

जबकि एक भागने में सफल रहा। पकड़े गए बदमाश ने अपना नाम रतीराम पुत्र हरदयाल रजक निवासी ग्राम डुलावन थाना बार बताया। पुलिस ने 315 बोर के तीन तमंचा, बाहर बोर के 5 तमंचा, एक देशी रिवाल्वर और 13 कारतूस बरामद किए। दोनों के खिलाफ पुलिस ने सम्बंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया।

पकड़े गए अपराधी को जेल भेजकर फरार आरोपी की तलाश शुरू कर दी। पुलिस अधीक्षक ने कार्रवाई करने वाली टीम को बीस हजार रूपए का पुरस्कार घोषित किया है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments