लोकसभा चुनाव 2019 . . . . . . . . .

लोकसभा चुनाव 2019 . . . . . . . . .

लोकसभा चुनाव 2019 . . . . . . . . .

क्षत्रिय समाज के युवाओं ने केन्द्रीय मंत्री उमा भारती का पुतला फूंका 

विगत दिवस महरौनी मेंं क्षत्रिय जाति के खिलाफ वक्तव देने का उमा भारती पर लगा था आरोप 

भाजपाई असमंजस मेंं, क्षत्रिय समाज की बैठकें जारी 

ललितपुर।Antim kumar jain/ Arif khan

कभी फायर ब्रांड  नेता के नाम से जाने जाने वाली केन्द्रीय मंत्री व झांसी सांसद उमा भारतीय ने बीच चुनाव मेंं भाजपा प्रत्याशी के प्रचार के दौरान विगत दिवस क्षत्रिय समाज के खिलाफ जो वक्तव जारी किये थे उसकी चिंगारी धीरे-धीरे विकराल आग का रूप धारण करने लगी है।

इसी से आहत होकर सोमवार को अखिल भारतीय क्षत्रीय महासभा व राष्ट्रीय राजपूत करणीय सेना ने मिलकर विधान सभा महरौनी के इंदिरा चौराहे पर केन्द्रीय मंत्री उमा भारती का पुतला जलाने का प्रयास किया, जिसमेंं वह सफल भी रहे। वहीं जिला प्रशासन का कहना है कि पुतला दहन के कार्यक्रम को विफल कर दिया गया था। तत्पश्चात क्षत्रिय महासभा ने राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजकर  कार्यवाही की मांग की है। 

भारतीय जनता पाट्री के सांसद प्रत्याशी अनुराग शर्मा के प्रचार मेंं आई उमा भारती ने विगत दिवस महरौनी मेंं क्षत्रिय जाति के खिलाफ सदभावना मंच से जो वक्तव जारी किये थे वह तभी से ही सोशल मीडिया की सुर्खियां बने हुये थे।

इससे आहत होकर क्षत्रिय महासभा व करणीय सेना ने महरौनी में केन्द्रीय मंत्री उमा भारती का पुतला दहन करने का प्रयास किया जिसे प्रशासन ने पूरी तरह विफल कर दिया।  वहीं तालबेहट के क्षत्रीय महासभा के पदाधिकारियों ने राष्ट्रपति का ज्ञापन देकर कार्यवाही की मांग की है। 

सोचनीय है कि संसदीय के अपने पांच साल के कार्यकाल मेंं उमा भारती ने अपनी छवि के अनुरूप लोकसभा झांसी में कभी-कभी कोई ऐसा ब्यान जारी नही किया जिससे आमजन मानस आहत हो, परन्तु लोकसभा चुनाव के ऐनवक्त एक जाति विशेष को सामंतशाही से लेकर तामम तरह की टिप्पटी भाजपा प्रत्याशी की गले की फांस बनती नजर आ रही है।

फौरी तौर पर अगर नजर डाले तो झांसी संसदीय क्षेत्र मेंं क्षत्रिय मतदाता करीब 1 लाख 40 हजार है व लोधी मतदाता करीब 2 लाख 70 के आस-पास है। उमा भारती का पुतला फूंके जाने के प्रयास से दबी जुबान लोधी समाज के कुछ नेताओं का स्वर परिस्थतियों के विपरीत नजर आ रहा है तो वहंी क्षत्रिय समाज के लोग उमा भारतीय के इस ब्यान को अपने समाज की तौहीन समझ रहे है। अब देखना है कि आने वाले समय में लोधी व क्षत्रीय समाज के 4 लाख मतदाताओं को शतरंज के खानों मेंं भाजपा नेता कैसे बैठा पाते है कि उनका राजा बाजी जीत जाये। 

ज्ञापन देने वालोंं में प्रधान संगठन जिलाध्यक्ष जीतू राजा, भारतीय किसान यूनियन जिलाध्यक्ष बॉबी राजा, डग्गी राजा, धु्रव प्रताप ङ्क्षसह, केपी राजा, छोटू राजा, साहब सिंह, राजू राजा, राजा जी, शैलेन्द्र राजा, बीरेन्द्र राजा, भगवत सिंह वैश, गोलू राजा, आकाश चौहान, नृसिंह प्रताप सिंह, प्रदुम्र राजा, चन्द्रप्रताप सिंह, कप्तान ङ्क्षसह, करण प्रताप सिंह, सौरभ राजा, सत्येन्द्र सिंह, महिपाल राजा, राजा बाबू, पुष्पेन्द्र राजा, गोलू राजा परमार, पृथ्वी राजा परमार, रोहित राजा, राणा राजा, राजू राजा, यशपाल राजा, बृजेन्द्र प्रताप, शनि राजा,  रजऊ राजा, अभय राजा, गौरव राजा,  राजप्रताप ङ्क्षसह, रविन्द्र राजा सहित सैंंकड़ा क्षत्रिय समाज के लोग उपस्थित रहे। 

 

 

हमारा वक्तव व्यवस्था के खिलाफ था किसी जाति विशेष के खिलाफ नही 
उमा भारती ने ट्वीट करके कहा कि मै कल महरौनी में अनुराग शर्मा के समर्थन में सभा के दौरान भाषण दे रही थी। जिसमें मैने कहा कि कांग्रेस में अभी भी सामंतवादी सोच कायम है। फिर मैने सामंतवाद के बारे में  कुछ पुरानी बातों का जिक्र किया। जिसमेंं कि गरीब आदमी का बहुत अपमान एवं उसे बहुत नीचा दिखाया गया है। यह टिप्पणी किसी जाति के खिलाफ नही थी। बल्कि एक व्यवस्था के खिलाफ थी, जो हमारे देश मेंं खत्म हो गयी है। 
उमा भारती
सांसद झांसी लोकसभा क्षेत्र केन्द्रीय मंत्री भारत सरकार 
Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments