चुनावी चौंसर पर रात भर राजनैतिकों ने बैठायी गोटियाँ 

चुनावी चौंसर पर रात भर राजनैतिकों ने बैठायी गोटियाँ 

चुनावी चौंसर पर रात भर राजनैतिकों ने बैठायी गोटियाँ 

मतदाताओं की चुप्पी ने बढ़ायी सभी की धडक़नें

चौथे चरण के चुनाव प्रचार थमते ही, जोड़-तोड़ राजनीति प्रारम्भ

ललितपुर। Ravi Shankar Sen/  Antim kumar jain

चौथे चरण का चुनाव प्रचार थमते ही प्रत्याशी पर पार्टी नेता अपनी राजनैतिक गोटियाँ बठाने में लग गये हैं। पूरी रात्रि जोड़-तोड़ की राजनीति चलती रही। कई आस्तीनों साँपों ने भी रंग दिखाये, तो कहीं अपनों ने अपनों दगा दिया।

कसमें वादों का दौर भी खूब चला, लेकिन ऊँट किस करवट बैठता है, यह तो मतगणना के बाद ही पता चलेगा। लेकिन राजनैतिक दल कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं। नगर में कांग्रेस व सपा का रोड शो भी किया गया। सभी दलों ने आखरी दिन अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। हालाँकि मतदाताओं की चुप्पी ने प्रत्याशियों की ही नहीं राजनैतिक दलों की भी धडक़ने तेज कर दी हैं।  

लोकतंत्र के सबसे बड़े पर्व के लिए पुलिस व प्रशासन तो सजग है ही, साथ ही जनता में भी अटूट जोश दिखायी दे रहा है। लेकिन मतदाताओं चुप्पी से सभी परेशान नजर आ रहे हैं। यही नहीं प्रशासन के अलावा प्रत्याशियोंं को भी ऐसी भीषण गर्मी में मतदाताओं को बूथ तक पहुंचाने के काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। तो वहीं वोटरों को लुभाने के लिए राजनैतिक दल पूर्ण प्रयास में लगे हुये हैं। चूँकि चुनावी क्षेत्र बड़ा होने के कारण हर जगह प्रत्याशी नहीं पहुंच सकता,

लेकिन गाँव व कस्बास्तर पर वोटरों के ठेकेदार मौजूद हैं। भले ही प्रशासन ने एतियातन शराब की दुकानें बंद करा दी हों, लेकिन वोटरों को लुभाने के लिए पूर्व से सभी इन्तजाम कर लिये गये। कहीं पर भोज की व्यवस्था है, तो कहीं पर मयखाने प्रारम्भ हो गये हैं। रात में कई ऐसे चेहरे दूसरे गुटों में दिखायी दिये, जो दिन में किसी और के लिए वोट माँग रहे थे। हालाँकि जोड़-तोड़ की राजनीति में सभी दल सक्रिय रहे। आज की रात भी गोटियाँ बैठायी जायेंगी। लोगों को कसमें खिलायी जा रही हैं।

तो कई जगह पर मन्दिर व अन्य सार्वजनिक स्थलों के निर्माण का भी जितने के बाद दावा किया जा रहा है। वैसे भी चुनाव में मुर्गा, शराब का चलन भी आम हो गया है। लेकिन वर्तमान चुनाव में यह कम ही दिखायी दिया है। अब देखना है कि इस जोड़-तोड़ की राजनीति में कौन कितना पास होता है। 

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments