जिलाप्रशासन ने मतदान के दिन किया पक्षपात: श्यामसुन्दर

जिलाप्रशासन ने मतदान के दिन किया पक्षपात: श्यामसुन्दर

जिलाप्रशासन ने मतदान के दिन किया पक्षपात: श्यामसुन्दर


चुनावी प्रबन्धन की खामियों को किया स्वीकार


प्रशासनिक रवैये की शिकायत चुनाव आयोग से करने का दावा


ललितपुर।Ravi shankar Sen/ Antim kumar jain

महागठबन्धन के प्रत्याशी श्यामसुन्दर सिंह यादव ने पत्रकारवार्ता के दौरान जिला प्रशासन पर गम्भीर आरोप लगाये। उन्होंने कहा कि मतदान के दौरान पक्षपात किया गया है, मतगणना में भी यही घटित न हो इसके लिए चुनाव आयोग से ललितपुर के डीएम को बदलने की मांग करेंगे। वार्ता के दौरान वह हताश नजर आये।

साथ ही मतगणना पूर्व ही हार शिकन उनके चेहरे पर दिखायी दी। बार-बार पार्टी में चल रहे गतिरोध पर उन्होंने ध्यान नहीं दिया, जिसका परिणाम यह है कि वह अपने आपको हारा हुआ महसूस कर रहे हैं।

 
झाँसी-ललितपुर संसदीय सीट पर सपा-बसपा गठबन्धन के तहत सपा के खाते में आयी थी। यहाँ से समाजवादी पार्टी ने अपने प्रत्याशी के रूप में पूर्व विधान परिषद सदस्य श्यामसुन्दर सिंह यादव उतारा था। जैसे ही इनकी टिकट की घोषणा हुई तो पार्टी का एक गुट नाराज हो गया। श्यामसुन्दर सिंह ने इस गुटबाजी को समाप्त करने बजाय उसे चरम पर पहुंचाने का काम किया।

उन्होंने चुनाव की बागडोर पूर्व जिलाध्यक्ष को सौंप दी, जो लम्बे समय से पार्टी से बाहर भी रहे, साथ ही उन्होंने पूर्व में विधानसभा चुनाव में पार्टी को हराने के लिए पूरजोर कोशिश की, जिसका परिणाम यह हुआ जब प्रदेश में समाजवादी पार्टी सबसे ज्यादा सीटें आयीं, तो वहाँ पर ललितपुर जनपद की दोनों सीटों पर पार्टी का हार का सामना करना पड़ा। यही नहीं वर्तमान जिलाध्यक्ष का भी पार्टी पर कोई लगाम नहीं है। तो वहीं महिला होने के कारण वह आम कार्यकर्ता की उतनी मदद नहीं कर पाती हैं।

अगर यह कहा जाये तो गलत नहीं होगा कि वर्तमान समय में कार्यकर्ताओं के साथ हो रहे उत्पीडऩ को रोकने में वह नाकाम रही। मतदान तक पार्टी में चल रहा गतिरोध चरम पर पहुंच गया। तो वहीं रही सही कसर प्रशासन ने पूरी कर दी। ऐसा नहीं है कि उन्हें इसकी जानकारी न हो, समाचार पत्रों में इसको लेकर खबरें प्रकाशित की गयी। किन्तु उनके आसपास के लोगों ने उन्हें चुनाव के कमजार पहलूओं से दूर रखा।

जिसका परिणाम यह हुआ कि वह मतगणना के पूर्व ही अपने को हारा हुआ महसूस कर रहे हैं। हालाँकि वार्ता के दौरान उन्होने आखरी उम्मीद के तहत जिला प्रशासन के इस पक्षपात पूर्ण रवैये की शिकायत की है। उन्होंने कहा कि वह वर्तमान जिलाधिकारी के नेतृत्व में मतगणना नहीं करना चाहते हैं। उन्हें मतगणना में गड़बड़ी के पूर्ण आसार नजर आ रहे हैं।

उन्होंने इस सम्बन्ध में चुनाव आयोग को पत्र लिखने का दावा किया है। साथ ही उन्होंने कहा कि अगर प्रशासनिक अमले में फेरबदल नहीं होगा, तो वह अपनी अगली रणनीति तय करेंगे। 

 

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments