अयोध्या फैसले का दोनों ही समुदायों ने की गर्मजोशी से स्वागत

अयोध्या फैसले का दोनों ही समुदायों ने की गर्मजोशी से स्वागत

अयोध्या फैसले का दोनों ही समुदायों ने की गर्मजोशी से स्वागत


बाजारों मं रही रोजाना की तरह चहलपहल, 


पुलिस प्रशासनिक अधिकारी पुलिस बल के साथ करते रहे गश्त


तालबेहट। sunil tripathi


 रोजाना की तरह बाजारों में चहल पहल, मस्जिदों से उठती अजान की गूंज और मन्दिर की घंटी घडियाल की सुन्दर स्वर लहरियां, अयोध्या फैसले पर एक दूसरे से चर्चाए करते दोनों समुदायों के लोग..रोजमर्रा की तरह रहा नगर का माहौल अयोध्या पर आए बहुचर्चित फैसले के दिन.. हां पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों के साथ पुलिस बल की टुकडियां जरूर अभास करा रही कि आज भारत में भाईचारे का कायम रखने का फैसला आ रहा है। 


सुबह से बाजारों में दुकानें खुलने लगी और ग्राहकों की चहल पहल शुरू हो गई। रोजमर्रा की सबकुछ समान्य रहा। सुबह 10 बजे से लेकर 11 बजे तक एक घंटे तक दुकानदार व घरों में रहे लोग चैनलों पर ऐतहासिक फैसले को सुनते रहे और दोपहर से शाम होते होते सडक़ों बाजारों में सबकुछ प्रतिदिन की तरह चलता रहा।

फैसले के बाद से लेकर दिन भर प्रशासन व पुलिस के अफसर पूरे दिन नगर में गश्त कर सजग, सुरक्षा का संदेश देते रहे। इस दौरान एडीएम अनिल मिश्र, एएसपी अवधेश विजेता, एडीएम मु0 कमर, सीओ देवेन्द्र सिंह के नेतृत्व में पुलिस बल की टुकडिय़ा नगर के बाजारों, मन्दिरों व मस्जिदों के आसपास गश्त देते रहे। नगर की मस्जिदों में सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजामों के बीच दोपहर की नवाज अता की गई। मस्जिदों की अजान व मन्दिरों में चल रहे रामायण पाठ की गूंज भी सुनाई देती रही। अयोध्या फैसले के बाद नगर में पूरी तरह शंाति रही।


फैसलें पर खुशी जाहिर करते दोनों समुदायों के संभ्रांत नागरिक..  


अयोध्या फैसले को लेकर चौराहे की चाय, पान की दुकानों पर फैसले को लेकर चर्चाए शुरू हो गई। मुख्य मार्ग पर बिल्डिंग मटेरियल के कारोबारी मु0 इमाम बख्स का कहना है कि वर्षो से हिन्दुस्तान के भाईचारे में खलल डालते विवाद का सर्वमान्य हल निकल गया उससे हम सब खुश है। फैसला भाईचारे का संदेश देता है। थाने मस्जिद के इमाम अब्ुदल अजीम और शिक्षक प0 गिरधारी लाल दुबे एक साथ सिलाई की दुकान में बैठकर अयोध्या फैसले पर गदगद नजर आ रहे।

उनका कहना है कि आजादी के बाद से लांबित फैसले का हल निकल गया और कोर्ट ने भी दोनों समुदायों के सम्मान का पूरा ख्याल रखा। हम फैसले से पूरी तरह खुश है। मुस्लिम बहुल्य क्षेत्र कदीमपुरा में हिन्दुस्तान टीम की पत्रकार पहुंचे और उन्होनें मुहल्ले के संभ्रात हाफिज मु0 हफीज, मु0 सिद्दीक, मुमताज खान और युवा अरबाज खान से बातचीत हुई तो सभी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि बहुत अच्छा हुआ भाईचारे के साथ कोर्ट का फैसला आया। हम कोर्ट के फैसले का पूरी तरह से सम्मान करते है।

उन्होनें फैसले को ऐतहासिक बताया। नगर में कौमी एकता की मिसाल कहे जाने बाले पत्रकार व समाजसेवी सैयद हामिद अली कुरेशी ने बताया कि उनकी जिंदगी का यह ऐतहासिक फैसला है। सर्वोच्च न्यायाल के पंच परमेश्वर ने हिन्दु और मुसलमान दोनों ही पक्षों के भाईचारे का कायम रखा। उन्होनें इसे कश्मीर की तरह ऐतहासिक बताते हुए न्याय संगत बताया। 

 

Comments