पुलिस प्रताडऩा से छुब्ध होकर युवक ने उठाया आत्मघाती कदम

पुलिस प्रताडऩा से छुब्ध होकर युवक ने उठाया आत्मघाती कदम


पुलिस प्रताडऩा से छुब्ध होकर युवक ने उठाया आत्मघाती कदम
शिकायत लेकर पीडि़त गया था चौकी बिरधा
बिरधा पुलिस की शिकायत करने पर धमका रहे थे पुलिसकर्मी
ललितपुर। Antim kunar jain/ Arif khan

बिरधा पुलिस के कारनामें जनपद में आये दिन चर्चा में बने रहते है। भ्रष्टाचार में डूबी बिरधा पुलिस से प्रताडि़त लोगों ने अब आत्मघाटी कदम भी उठाने शुरू कर दिये है। ऐसा ही एक मामला शुक्रवार को प्रकाश में आया है। जहां पर जमीनी विवाद को लेकर पीडि़त चौकी पहुंचा। जहां पर पुलिस उसको ही चौकी में बैठाया गया। साथ ही उसे तरह-तरह से प्रताडि़त कर छोड़ दिया गया। साथ ही वहां पर तैनात पुलिस कर्मियों ने अन्यत्र शिकाय करने पर झूठे मुकदमें में फसाये जाने की धमकी दे डाली।

जिससे छुब्ध होकर युवक ने विषाक्त पदार्थ खा लिया। जिससे उसकी हालत गंभीर हो गयी। हालत बिगडते देख परिजन उसे जिला अस्पताल लाये जहा पर चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार प्रारंभ कर दिया। चिकित्सक उसकी हालत गंभीर बता रहे है।
थाना कोतवाली अन्तर्गत रिर्पोटिंग चौकी बिरधा के ग्राम सतरवांस निवासी पंकज पाराशर पुत्र शिवचरण पाराशर (45) निवासी हाल निवासी चौबयाना ललितपुर का गांव एक व्यक्ति से खेत में जानवर छोडने का विवाद हुआ था।

जब उसने विपक्षी को उलाहना दी तो वह गाली-गलौच व जान से मारने की धमकी देने लगा। जब पीडि़त अपनी व्यथा सुनाने व न्याय की लालसा में बिरधा चौकी पहुंचा तो उसके साथ कुछ विपरीत ही घटना घटित हुई। वहां पपर तैनात पुलिस कर्मियों ने उसे रातभर चौकी में बैठाया। बल्कि उसे तरह-तरह से प्रताडि़त भी किया। साथ ही उसे छोड़ते वक्त पुलिस वालों ने उसे झूठे मुकदमें में फसाने की धमकी भी दे डाली। इसके बाद पीडि़त ने तहसील दिवस में आलाधिकारियों को अपनी व्यथा सुनाई तो चौकी पुलिस कर्मियों को पारा सातवें आस्तान पर चढ़ गया तो वह उसे धमकाने लगे। पुलिस की धमकियों से तंग आकर पीडि़त ने आत्म धाटी कदम उठाया ।

Comments