बहुचर्चित मड़ावरा चोरी का पुलिस ने किया पटाक्षेप

बहुचर्चित मड़ावरा चोरी का पुलिस ने किया पटाक्षेप

बहुचर्चित मड़ावरा चोरी का पुलिस ने किया पटाक्षेप


 चार चोर व दो खरीदारों को किया गिरफ्तार, दो फरार


एक किलो सत्तर ग्राम सोना व एक किलो से अधिक चॉदी बरामद


एसटीएफ जनपद से गई थी खाली हाथ स्थानीय पुलिस को सफलता


तीन माह पूर्व कस्बा में न्यायाधीश के घर हुई थी करोड़ो की चोरी


ललितपुर। Vikash tripathi

कस्बा मड़ावरा में तीन माह पूर्व एक व दो अगस्त के मध्य न्यायाधीश के घर हुई बहुचर्चित करोड़ों की चोरी में आखिरकार जनपद पुलिस को सफलता मिल गई, एसटीएफ जिस चोरी से पर्दा नही उठा सकी, उस करोड़ो की चोरी का जनपद पुलिस ने पटाक्षेप कर चार चोर व दो खरीदारों को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस टीम ने चोरी हुए सामान में से एक किलो सत्तर ग्राम सोना व एक  किलो 25 ग्राम चॉदी बरामद कर आरोपितों को जेल भेज दिया है। वही फरार चल रहे दो खरीदारों की तलाश में टीम जुट गई है। बहुचर्चित चोरी काण्ड का खुलाशा करने वाली टीम को डीआईजी झांसी व पुलिस अधीक्षक ने 50 हजार रूपये का पुरस्कार देने की घोषणा की है।


बुधवार को पुलिस लाइन सभागार में प्रेस बार्ता के दौरान पुलिस अधीक्षक कैप्टन मिर्जा मंजर बेग ने जानकारी देते हुए बताया कि बहुचर्चित चोरी के मामले में छानवीन में जुटी स्वाट टीम  व सर्विलांस प्रभारी को मुखबिर से जानकारी हुई कि कस्बा मड़ावरा में नीरज जैन चिकित्सक  के घर चोरी करने वाले आरोपी चोरी का माल बेचने ललितपुर आ रहे हैं।

मुखबिर से सूचना मिलने पर स्वाट टीम व सर्विलांस टीम सदर कोतवाली निरीक्षक संजय कुमार शुक्ला सहित पुलिस बल के साथ आरोपियों को गिरफ्तार करने घेराबंदी कर दी और कैलगुंवा तिराहे पर चार संदिग्धों को दबोच लिया।

पूछताछ करने पर उन्होंने अपना नाम रामदास उर्फ भज्जू कुशवाहा पुत्र स्व.बब्बू कुशवाहा निवारी ग्राम रनगांव, रामकिशन पुत्र शिवदीन कुशवाहा निवासी ग्राम क्योलारी, सोहन पुत्र खुशहाल निवासी ग्राम डोंगराकलां व देवेंद्र कुशवाहा पुत्र किशनलाल निवासी ग्राम बुढ़वार बताया।

पुलिस गिरफ्त में आने  वाले चोरो व खरीदारों के पास से सोना व चॉदी के जेबरात एंव ठोस सोना बरामद हुआ है। पुलिस पूछताछ के दौरान चोरी के मास्टर माइंड़ रामदास उर्फ भज्जू कुशवाहा ने बताया कि उन्होंने यह माल मड़ावरा में डाक्टर के घर से चोरी किया था।

जब पुलिस ने आरोपियों से शेष माल के बारे में पूछा तो आरोपित ने बताया कि देवेंद्र कुशवाहा जो यश स्टोन सप्लायर्स के यहां काम करता है। देवेंद्र ने अपने सेठ उत्तम चंद्र जैन को सोने की एक किलो की एक ईंट व 100 ग्राम सोने का बिस्कुट 18 लाख में बेच दिया था।

जब पुलिस ने पत्थर व्यापारी उत्तम चंद्र जैन व अनूप जैन नजा  ज्वैलर्स से पूछताछ की तो उनके पास से भी ठोस सोना व जेबरात बरामद हुए। पुलिस गिरफ्त में आये उत्तम जैन ने बताया कि शेष माल उसने अपने साढ़ू राजकुमार जैन पुत्र मूलचंद्र जैन निवासी मुहल्ला वाटर्र वक्र्स व मुन जैन निवासी इंदौर और आगरा निवासी रामदास को बेचा है।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पकड़े गए छह लोगों को जेल भेजा जा रहा है। वहीं चोरी का माल खरीदने वाले फरार चल रहे दो खरीदारों की तलाश शुरू कर दी है। पुलिस ने चार चोर व दो खरीदारों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।


करोडों की चोरी लाखों में तब्दील
न्यायधीश के घर हुई चोरो को पूर्व  में करोडों रूपये का बताया जा रहा था, लेकिन चोरी के खुलाशे के बाद वह चोरो लाखों में समट गई, पुलिस के इस खुलाशे के बाद पीडि़त पक्ष की संतुष्ट नजर आया, फरार चल रहे दो अन्य खरीदारों के गिरफ्त में आने के बाद ओर भी सोना व चॉदी बरामद होने का अनुमान लाया जा रहा है। जनपद पुलिस को मिली इस सफलता को लेकर पुलिस अधीक्षक ने टीम का 26 जनवरी को सम्मान करने की बात भी कही है।

एसटीएफ हुई असफल जनपद पुलिस को मिली सफलता
चोरी के  बाद से स्थानीय पुलिस हाथ पैर मार कर थक चुंकी थी, मामला एक वीआईपी के घर से जुड़े होने के चलते पुलिस अधीक्षक ने एसटीएफ को जनपद में बुलाकर छानवीन करने को लेकर पत्र लिखा था,  जनपद में एसटीएफ के दो-तीन बार आने के बाद एसटीएफ चोरी को खोलने में असफल रही, वही जनपद पुलिस को आखिरकार मुखबिर की सूचना पर बुधवार को यह सफलता हाथ लगी। 

सराफा व्यापारी खरीदतें है चोरी का सामान
जनपद में होने वाली चोरी की घटनाओं में हमेशा में सराफा व्यापारियों की खरीद फरोक को लेकर वह चर्चा में आते रहे है, लेकिन कोई कड़ी कार्यवाही न होते देख वह अपनी आदतों से बाज नही आते,
न्यायधीश के यहां हुई चोरी के मामले में पुलिस ने विना किसी पर्ची के सोना खरीदने वाले दो खरीदारों को गिरफ्तार किया है। तो वही इस चोरी का कुछ सोना व चॉदी इंदौर में बेचा गया है, जिसकों लेकर पुलिस ने दो अन्य खरीदारों के नाम उजाकर कर उन्हें गिरफ्तार करने के प्रयास शुरू कर दिये है।

चोर व खरीदारों से यह सामान हुआ बरामद
पुलिस गिरफ्त में आये चोर रामदास, रामकिशन, सोहन, देवेन्द्र कुशवाहा के पास से तीन सोने के बिस्कुट जिनका बजन करीव तीन सौ ग्राम, एक सोने का हार बजन 50 ग्राम, दो जोड़ी सोने के कान के टॉप्स, पांच सोने की अंगूठी बजन 33 ग्राम, एक सोने की लड़ी बजन आठ ग्राम व चॉदी के जेबरात का बजन एक किलो 25 ग्राम बताया गया है। तो वही खरीदार उत्तम चन्द्र  जैन व अनूप जैन के पास से 600 ग्राम सोना, चार सोने की चूडियां बजन 60 ग्राम, दो सोने की अंगूठी बजन सात ग्राम बरामद किया है।

पूर्व प्रभारी व स्थानीय पर शक निकला फर्जी
वीआईपी के घर हुई चोरी के बाद पीडि़त पक्ष जहां मड़ावरा थाना प्रभारी उदयभान गौतम व एक खन्ना नाम के व्यक्ति पर चोरी करने का शव व्यक्त कर रहे थे, लेकिन पुलिस की पूछताछ में यह बात निराधार आ रही थी, बुधवार को बहुचर्चित चोरी के खुलाशें के बाद पुलिस व स्थानीय व्यक्ति के ऊपर से शक के काले वादल साफ हो गए है।

इस टीम को मिला पंचास हजार का पुरस्कार
बहुचर्चित चोरी का खुलाशा कर पुरस्कार लेने वाली टीम में शहर कोतवाल संजय कुमार शुक्ला, स्वाट टीम प्रभारी राजकुमार यादव, सर्विलांस टीम प्रभारी गुलाम हुसैन, नेहरू नगर चौकी इंचार्ज संदीप सेंगर, स्वाट टीम के शत्रुन्जय, अरूण त्रिपाठी, देवेन्द्र, जायद अली, अमित पाठक, मनमोहन, इमरान व सर्विलांस टीम के रजनीश सिंह चौहान, रविन्द्र प्रताप सिंह एंव कोतवाली में तैनात सिपाही भानु प्रताप शामिल रहे, जिन्हें पुलिस उपमहानिरीक्षक झांसी सुभाष बंघेल व पुलिस अधीक्षक एम एम बेग ने 25-25 हजार रूपये का पुरस्कार देने की घोषण की है।

Comments