खाद के कारोबार में हाथ काले करने का आरोप

खाद के कारोबार में हाथ काले करने का आरोप

खाद के कारोबार में हाथ काले करने का आरोप


व्यापारी व उसके परिजनों पर नगर कांग्रेस ने साधा निशाना


जिला प्रशासन व मुख्यमंत्री से मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग


ललितपुर।

अंतिम जैन 
 

उड़द खरीद में धांधली की शिकायतें मिलने के बाद जिलाधिकारी द्वारा व्यापक पैमाने पर कार्यवाही करते हुये सत्ताधारी नेता व व्यापारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी थी। उड़द में धांधली पर सख्ती से कार्यवाही होने के बाद अब खाद में व्यापक स्तर पर धांधली का आरोप लगाते हुये नगर कांग्रेस कमेटी ने एक व्यापारी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

विगत दिवस घण्टाघर पर धरना प्रदर्शन कर व्यापारी व उसके भाई-भतीजे के खिलाफ सीबीआई जांच कराते हुये कार्यवाही किये जाने की मांग उठायी गयी। इस सम्बन्ध में नगर कांग्रेस कमेटी ने जिला प्रशासन समेत मुख्यमंत्री को भी पत्र भेजा है।


    नगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष हरीबाबू शर्मा का कहना है कि 12 मैट्रिक टन यूरिया खाद लगभग 23500 बोरियां जो कि किसानों के लिए जिले में आयी थीं और सोसायटी के जरिए किसानों को बेची जानी थी। इस खाद को पीसीएफ प्रबंधक की शह पर ठेकेदार द्वारा प्राईवेट कम्पनी के बाजार में ऊंचे दामों पर बिकवा दिया गया है। इतना ही नहीं सोसायटी पर खाद न मिलने से किसानों को भी भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

नगर कांग्रेस कमेटी ने इसमें करीब पचास लाख रुपये का खाद घोटाला होने का आरोप लगाते हुये सीबीआई जांच की मांग को प्रमुखता से उठाया है। आरोप है कि खाद का लाइसेंस उठान के ठेकेदार की पत्नी के नाम से है, जो कि पूरी तरह से अवैतनिक है। क्योंकि नियमानुसार यह ठेका परिवार के किसी सदस्य के नाम नहीं हो सकता। इस पर कांग्रेस ने लाइसेंस को रद्द किये जाने एवं संलिप्त अधिकारी के खिलाफ जांच कर निलम्बन की कार्यवाही किये जाने की मांग उठायी गयी है।

इसके अलावा व्यापारी के भतीजे पर ग्राम तरावली के किसानों के अभिलेखों पर अमरपुर मण्डी में करीब चार सौ कुन्तल उड़द बेचे जाने का संगीन आरोप लगाते हुये अभिलेखों की जांच कराये जाने की मांग उठायी गयी है। नगर कांग्रेस ने जिला प्रशासन व मुख्यमंत्री से उड़द व खाद में घोटालों का आरोप लगाते हुये सीबीआई जांच कराये जाने की मांग उठायी है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments