पांचवें चरण के चुनाव में मतदाताओं को नहीं लुभा सका पार्टियों के चुनावी मेनिफेस्टो, मतदान केंद्र दिखने लगे खाली

पांचवें चरण के चुनाव में मतदाताओं को नहीं लुभा सका पार्टियों के चुनावी मेनिफेस्टो, मतदान केंद्र दिखने लगे खाली

40 से 45% मतदान के हैं आसार

राजधानी लखनऊ और मोहनलालगंज लोकसभा सीट से दोपहर के 1:00 बजे तक कुल 34.5 प्रतिशत मतदान ही हो सका है जो की उम्मीद के हिसाब से बहुत ही कम नजर आ रहा है. 

चिलचिलाती धूप और गर्मी में लोकसभा प्रत्याशियों के वादे और मेनिफेस्टो मतदान केंद्रों पर मतदाताओं को लुभाने में नहीं हो सके कामयाब. जिस हिसाब से मतदान केंद्रों पर सुबह उठते के साथ मतदाताओं के अंदर चुस्ती फुर्ती दिखी वह 10:00 बजे के बाद दम तोड़ते नजर आने लगी और औसतन 30 से 34% ही मतदान हो सका. 

सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है देखने वाले यही समझ रहे थे की सभी लोग मतदान केंद्रों पर दिखेंगे लेकिन सुबह के 10:00 बजे के बाद वह भी क्रम घटता चला गया जिसका नतीजा यह हुआ कि मतदान केंद्रों पर अब इक्का दुक्का मतदाता ही दिख रहे हैं.

क्षेत्रीय नेताओं की मानें तो बहुत हद तक मतदान हुआ तो शायद 50% के अंदर ही लोकसभा क्षेत्र मोहनलालगंज सीट और लखनऊ सीट सिमट जाएगा. मतदान केंद्रों तक वोटरों को पहुंचाने में बीएलओ और सेक्टर वार्डन को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है जिस रफ्तार से मतदान शुरू हुआ उसमें अचानक 3 घंटे के बाद से ही लगातार गिरावट देखी जा सकती है. ग्रामीण क्षेत्रों में फसलों की कटाई वजह बताई जा रही है तो वहीं शहरी क्षेत्र में धूप और गर्मी के साथ शासन सत्ता विरोधी बातें भी निकल कर आ रही हैं.

दोपहर तक चिनहट और मटियारी में 38.64% मतदान ही हो सके

मोहनलालगंज के एक क्षेत्र सिर्फ चिनहट और मटियारी मतदान केंद्रों की बात करें तो 12500 मतदाताओं में दोपहर के 2:00 बजे तक4830 मतदाता ही अपने मत का पावर दिखा सके यानी की कुल मिलाकर 38.64% मतदान ही हो सका. ज्यादातर मतदान केंद्रों पर सन्नाटा ही पसरा हुआ है अब देखना यह होगा कि राजधानी और आसपास के लोग कितने प्रतिशत मतदान कर पाते हैं जिससे नई सरकार को नई तरीके का बल मिल पाए.  

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments