नगर पंचायत महोना में दो मस्जिदों में तरावीह हुई मुकम्मल।             

नगर पंचायत महोना में दो मस्जिदों में तरावीह हुई मुकम्मल।             

राजधानी लखनऊ कि नगर पंचायत महोना की दो मस्जिदों में नमाज ए तरावीह  का पहला दौर रविवार  को खत्म हो गया इस अवसर पर लोगों ने नमाज ए तरावीह पढ़ाने वाले हाफिज मोहम्मद ईशा व मोहम्मद हमजला को नजराना दिया और मस्जिद कमेटी ने हाफिजो को सम्मानित किया इस सिलसिले में सैयद रसीद मियां साहब की दरगाह वाली मस्जिद मे तरावीह सुना रहे हाफिज मोहम्मद ईशा व मोहम्मद हमजला ने दरगाह वाली मस्जिद के इमाम ने पांच  पारे वाली नमाज तरावीह का पहला दौर मुकम्मल किया बड़ी मस्जिद के पेश इमाम कारी सुफियान साहब ने अपनी तकरीर में कहा कि नमाज़ तरावीह की दो सुन्नते हैं पहली यह कि रमजान में कम से कम एक क़ुरआन सुना जाए और दूसरी यह कि पूरे रमजान तरावीह पढ़ी जाए

नमाज़ तरावीह मुकम्मल होने का मतलब यह नहीं कि आज के बाद तरावीह की नमाज न पढ़ी जाए उन्होंने कहा कि नमाज तरावीह का सिलसिला ईद का चांद दिखने तक जारी रहेगा और सभी मुसलमानों की जिम्मेदारी है कि वह अंतिम रमजान तक नमाज़ तरावीह पढ़ने का सिलसिला बदस्तूर जारी रखें इस अवसर पर खत्म तरावीह के बाद यहां नमाज ए तरावीह पढ़ाने वाले कारी सुफियान साहब का हौसला अफजाई दरगाह वाली मस्जिद में खत्म तरावीह में कारी सुफियान साहब ने बारिश और देश में अमन शांति स्कूल के लिए दुआ की गई इस अवसर पर कारी सुफियान साहब ने खासकर मुसलमानों से कहां की आपस में इत्तेहाद कायम करने की अपील की कारी सुफियान साहब ने कहा कि मुसलमान बहुत ही नाजुक दौर से गुजर रहा है

उन को कमजोर करने के लिए तरह-तरह के षडयंत्र किया जा रहा है दरगाह के सज्जादा नसीन सैयद अनवार अहमद राशिदी ने कहा कि अल्लाह ने मुसलमानों को रमजान का महीना तोहफे के तौर पर अता किया है इस महीने इबादत और नेक काम का शबाब 70 गुना ज्यादा बढ़ा दिया जाता है नमाज ए तरावीह में शामिल पिछड़ा मुस्लिम मोमिन समाज के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रवक्ता मोहम्मद अकील खान कोषाध्यक्ष मोहम्मद आदिल खान प्रदेश महासचिव मोहम्मद रईस हाशिम बेग मौलाना मुशीर अहमद इमरान शाह शकील इदरीसी मतलूब रजा हाशिम कुरैशी अन्ना कुरैशी चांद कुरैशी राजू दादा के अलावा कस्बा महोना के बहुत से नमाज़ ए तरावीह में शामिल थे नमाज खत्म होने के बाद चाय नाश्ते का इंतजाम किया गया एवं अभी लोगों ने अल्लाह ताला से हिंदुस्तान की खुशहाली एवं अमन चैन शांति एवं भाईचारे  के लिए दुआ मांगी और हम सबको अगले साल नमाज़ तरावीह पढ़ने का जज्बा अल्लाह  पैदा करें आमीन

Comments