शिविर मे मानसिक स्वास्थ अधिनियम की दी गयी जानकारी

शिविर मे मानसिक स्वास्थ अधिनियम की दी गयी जानकारी

  जिला जज नन्दलाल एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव मधु डोगरा के निर्देश के क्रम मे  सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रानीगंज मे मानसिक स्वास्थ्य अधिनियम 2017 के विषय पर जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया । 

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए चिकित्सा अधीक्षक डा. राजीव द्विवेदी ने मानसिक स्वास्थ्य अधिनियम की जानकारी देते हुए बताया कि जिनकी उम्र 16 वर्ष से कम है और वे नशे का शेवन कर अपराध मे दोषी होते है तो ऐसे व्यक्ति को मनोचिकित्सक या इससे जुडे नर्सिंग होम मे सरकार द्वारा चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने का प्रावधान है मनोरोग विशेषज्ञ की कमी के कारण समय पर मानसिक रूप से बीमार व्यक्ति इलाज से वंचित रह जाते है । 

कार्यक्रम का संयोजन करते हुए पीएलवी दिनेश कुमार मिश्र ने कहा कि मानसिक स्वास्थ्य अधिनियम 2017 के अन्तर्गत सभी व्यक्तियो को सरकार द्वारा संचालित या वित्त पोषित मानसिक स्वास्थ्य सेवाओ  से मानसिक स्वास्थ्य देखभाल और उपचार का अधिकार प्राप्त है । पीड़ित व्यक्ति किसी भी मानसिक स्वास्थ्य सेवा केन्द्र मे जा सकते है और मुफ्त उपचार ले सकते है । 

कार्यक्रम का  संचालन करते हुए  पीएलवी अनिल पाण्डेय  ने कहा कि विधिक सेवा प्राधिकरण समाज के पिछड़े शोषित वंचित लोगो को न्याय दिलाने के लिए जागरूकता शिविर के माध्यम से स्वयं पीड़ितो तक पहुंचने का प्रयास कर रहा है इसी क्रम मे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर मानसिक रूप से बीमार दिव्यांग व्यक्तियो के अधिकारो के लिए केन्द्रीय और राज्य मानसिक स्वास्थ्य प्राधिकरण की स्थापना की गयी है ।

 इस मौके पर उपनिरीक्षक राजेश राय, आशीष दूवे वीसीपीएम,  शिव बहादुर मौर्य एचपीओ,अवधेश प्रताप सिंह एचएस, याश्मीन बीएमसी ,  अल्का श्रीवास्तव आशा ,शैलजा देवी एएनएम, सोनू सिंह एएनएम,  उर्मिला सिंह ,मीना शर्मा सबनम गीता देवी आरती मिश्रा मनीषा दुर्गावती शिवम मिश्र राजदेव रामलाल एडवोकेट प्रेमा देवी मन्जू यादव पूनम सीता आदि उपस्थित रही ।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments