सरकारी  हैंडपम्पो पर दबंगों का कब्जा 

सरकारी  हैंडपम्पो पर दबंगों का कब्जा 
  • डीएम के आदेश का तहसील प्रशासन नही कर रहा पालन

बीकेटी/लखनऊ।

एक तरफ योगी सरकार जल संरक्षण अभियान को सफल बनाने के लिए अनेकों गाइड लाइन जारी किये है और जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के सख्त निर्देशों के बावजूद भी बख्शी का तालाब तहसील क्षेत्र के सभी ग्राम पंचायतों व नगर पंचायतों के विभिन्न वार्डों में सांसद एवं विधायक निधि से लगाए गए इंडिया मार्का हैंडपंम्पो में दबंगों द्वारा डाले गए समर्सिबल पंम्पो को शिकायत के बावजूद भी डलवाने के लिए तहसील स्तरीय अधिकारी गंभीर नहीं दिख रहे हैं।

जब कि जिलाधिकारी ने कई बार तहसील दिवस में हैंडपंपों पर कब्जेदारी की आई शिकायतों को लेकर हैंडपम्पो में  कर डाल कर कब्जा करने वाले लोगों को सूची बद्ध कर उनके खिलाफ थाने पर रिपोर्ट दर्ज कराने के निर्देश एसडीएम और सी ओ को दिए थे। जिलाधिकारी के सख्त निर्देशों के बावजूद भी बख्शी का तालाब तहसील क्षेत्र के अंतर्गत विभिन्न गावों में सांसद एवं विधायक निधि से लगाए गए सैकड़ों इंडियमार्का हैंडपंपों पर दबंगों ने अवैध कब्जा कर उनमें अपने निजी समर्सिबल पंम्प डालकर उनको अपने निजी प्रयोग में ले रहे हैं।

इससे गांवो में पानी की इस कदर मारा मारी मची है कि लोग दूर मोहल्ले में लगे हैंडपंम्पो से पानी लाकर अपने दैनिक कार्यों का निर्वहन कर रहे हैं। मालूम हो कि सांसद योगदान से कोटे से लगने वाले इन इंडिया मार्का हैंडपंम्पो को गांव में पेयजल की समस्या के निराकरण के लिए लगभग 15 परिवारों के बीच या फिर गांव की भौगोलिक स्थिति को देखते हुए उनके स्थापना की जाती है

जिससे की एक ही हैंडपम्प से 15 परिवारों को स्वच्छ पेयजल आसानी से उपलब्ध हो सके इस कोटे से प्रत्येक गांव में सौ-सौ हैंडपंम्प लगे हैं। लेकिन इस हैंडपंम्पो को अपना निजी हैंडपंप बनाकर उनपर अपना निजी समर्सिबल पंम्प डालकर अपने निजी प्रयोग में लेने से गांव के ग्रामीणों की प्यास बुझाने में सांसद विधायक कोटे से लगे ये हैण्डपम्प सफेद हाथी साबित हो रहे हैं।

 

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments